मुख्यमंत्री के स्लीमनाबाद आगमन पर उठेगी सिहोरा जिले की मांग,मुख्यमंत्री से मिल जिला की मांग करेंगे सिहोरावासी

मुख्यमंत्री के स्लीमनाबाद आगमन पर उठेगी सिहोरा जिले की मांग,मुख्यमंत्री से मिल जिला की मांग करेंगे सिहोरावासी
सिहोरा

  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कल 7 अप्रैल को स्लीमनाबाद आगमन पर लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति उन्हें ज्ञापन सौंप सिहोरा को जिला बनाने की मांग करेगी।विदित हो कि मुख्यमंत्री अपनी अनेक महत्वाकांक्षी योजनाओं की शरुआत करने कटनी जिले के एक दिवसीय दौरे पर आ रहे है।

क्या है पूरा मामला

लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति सिहोरा के अनुसार 21 वर्ष पूर्व 21.10 .2001 को प्रथम बार तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा सिहोरा को जिला घोषित किया गया।इसके बाद दिनाँक 11.07.2003 को सिहोरा को जिला बनाने का म प्र सरकार का राजपत्र भी जारी किया गया।विधानसभा चुनाव में बदली सरकार की भाजपा मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती द्वारा पुनः 5 जून 2004 को सिहोरा आगमन पर देवउठनी ग्यारस को जिला लागू होने का एलान किया गया।

तब से अब तक भाजपामय है सिहोरा

 लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति के विकास दुबे,अनिल जैन,सियोल जैन,नागेंद्र क़ुररिया,मानस तिवारी,अमित बक्शी ने कहा कि पिछले 21 वर्षों से सिहोरा ने भाजपा को लगातार विधायक दिया,सांसद दिया,मुख्यमंत्री-प्रधानमंत्री बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई परंतु भाजपा ने कभी भी सिहोरा के सम्मान में वृद्धि का कोई भी काम नही किया।कालांतर में एशिया की सबसे बड़ी तहसील का गौरव रखने वाली सिहोरा तहसील चार भागों में बांट दी गई।

पिछले 6 माहों से आंदोलन

सिहोरा को जिला बनाने की मांग को लेकर विगत 3 अक्टूबर 2021 से लगातार सिहोरा में धरना,प्रदर्शन ज्ञापन कर सरकार से सिहोरा जिला बनाने की मांग गैर राजनैतिक मंच द्वारा की जा रही है।सत्तारूढ़ भाजपा की सिहोरा विधायक और स्थानीय संगठन द्वारा सिहोरा जिला की मांग से किनारा करने से सम्पूर्ण सिहोरा में धीरे धीरे आक्रोश पनप रहा है।लक्ष्य जिला सिहोरा समिति ने जिला बनने तक लगातार आंदोलन की घोषणा की है और दावा किया है कि शिवराज सरकार के इसी कार्यकाल में सिहोरा को जिला बनाने जोरदार आंदोलन किया जाएगा।
          समिति ने सभी सिहोरावासियों से अपने सिहोरा के सम्मान के लिए स्लीमनाबाद पहुंचने का आह्वान किया है।
Previous Post Next Post