चार दिन बीते बरगी दाएं तट नहर से खितौला हिरण नदी घाट नहीं पहुंचा पानी

चार दिन बीते बरगी दाएं तट नहर से खितौला हिरण नदी घाट नहीं पहुंचा पानी


अधिकारी और जनप्रतिनिधि जनता को दे रहे भ्रामक जानकारी


सिहोरा-खितौला के 18 वार्डों में पीने के पानी की मची त्राहि-त्राहि

आखिर कहां है सत्ता पक्ष के नेता, विपक्ष भी दिखावटी विरोध कर हुआ गायब


सिहोरा 

 सिहोरा नगर पालिका क्षेत्र के 18 में पीने के पानी को लेकर त्राहि-त्राहि मची है वहीं दूसरी तरफ नगरपालिका और नर्मदा विकास विभाग के जिम्मेदार अधिकारी भ्रामक जानकारी दे रहे हैं कि बरगी दाईं तक नहर नहर से पानी छोड़ा दिया गया है और शुक्रवार शाम तक पानी खितौला हिरण नदी घाट में पहुंच जाएगा। वहीं सत्तापक्ष और नगर पालिका अध्यक्ष पद के दावेदार फेसबुक पर विधायक के प्रयासों से हिरण नदी में पहुंच रहा नहर का पानी जैसी पोस्ट डाल कर वाहवाही लूट रहे हैं। जिसको लेकर जनता में भी भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है। लोगों का साफ कहना है कि आखिर जिम्मेदार अधिकारी और जनप्रतिनिधि जनता को सरासर मूर्ख बनाने का काम कर रहे हैं और कुछ नहीं। जनता का कहना है कि आने वाले चुनाव में सबक सिखाया जाएगा।

मालूम रहे कि पिछले एक सप्ताह से शिवरा नगर पालिका क्षेत्र के 18 वार्डों में पीने के पानी की तरह ही त्राहि मची हुई है। हैंड पंप हवा उगल रहे हैं और बोर सूख गए हैं हालात यह है कि जल आपूर्ति करने वाले नगरपालिका के टैंकर भी अब दम तोड़ रहे हैं। सबसे ज्यादा खराब स्थिति ऊपरी बसाहट के क्षेत्र सकरी मोहल्ला, सैयद बाबा की टोरिया, टंकी मोहल्ला, लखराम मोहल्ला के क्षेत्र में लोगों के सामने प्यासे मरने की स्थिति बन गई है। लोगों का कहना है कि आखिर जिम्मेदार जनप्रतिनिधि आखिर कर क्या रहे हैं। 

सत्ता पक्ष और विपक्ष में क्या हो गई है सेटिंग

सबसे हैरानी वाली बात विपक्षी पार्टी कांग्रेस की देखने मिल रही है। सिर्फ एक दिन का दिखावटी विरोध प्रदर्शन करने के बाद सिहोरा के कांग्रेसी नेता हो गए हैं। लगता है उनकी सत्ता पक्ष से विपक्ष की सेटिंग हो गई है, नहीं तो इतने ज्वलंत मुद्दे को भुजाने में उन्हें देरी नहीं करनी थी। 

आखिर क्यों नहीं किए गए भागीरथ प्रयास पहले

सिहोरा में गर्मी के मौसम में जल संकट की खराब स्थिति लगातार पिछले 3 और 4 सालों से देखी जा रही है। जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों नगर पालिका और प्रशासनिक अधिकारियों को इस बात का पहले से आभास था कि भीषण गर्मी में जल संकट की समस्या सामने खड़ी है। इसके बावजूद उन्होंने पहले से ऐसे प्रयास किया तैयारियां क्यों नहीं की जिससे जल संकट की समस्या से निजात पाया जा सके।
Previous Post Next Post
Wee News