सिहोरा में जल संकट को लेकर युकां ने नगर पालिका ने किया विरोध-प्रदर्शन

सिहोरा में जल संकट को लेकर युकां ने नगर पालिका ने किया विरोध-प्रदर्शन
प्रशासन को पहले ही जल संकट से किया था आगाह, अधिकारियों ने नहीं दिया ध्यान

तीन दिन से वार्ड में नहीं पहुंच पा रहा हिरण नदी का पानी, मुख्यालय से नदारद अधिकारी

सिहोरा 

जिम्मेदार अधिकारियों को पहले ही आगाह कर दिया गया था कि सिहोरा नगर सहित ग्रामीण क्षेत्र में जल संकट गहराने वाला है लेकिन इसके बावजूद अधिकारियों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। जिसका परिणाम सामने है कि सिहोरा नगर सभी 18 वार्डों में पीने के पानी के लिए लोग तरस रहे हैं। अधिकारियों की इस लापरवाही के विरोध में बुधवार को युवक कांग्रेस के नेतृत्व में कांग्रेसी नेता एवं कार्यकर्ताओं ने नगर पालिका सिहोरा कार्यालय के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। नेता और कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि एक सप्ताह से ज्यादा का समय बीत गया है लेकिन हिरण नदी में अभी तक नहर का पानी नहीं छोड़ा गया। नगर के सभी वार्डों में तीन दिनों में एक बार पानी आ रहा है। इतनी गंभीर समस्या होने के बावजूद जिम्मेदार अधिकारी मुख्यालय से ही नदारद हैं। 

 युवक कांग्रेस के पूर्व प्रदेश महासचिव राजेश चौबे की अगुवाई में राज्यसभा सांसद प्रतिनिधि अमोल चौरसिया, ब्लॉक अध्यक्ष प्रवीण पाठक, प्रदेश सचिव पीसीसी बाबा कुरैशी, युवक कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष राहुल पांडे, प्रकाश कुररिया, घनश्याम बड़गैया, जगदीश सैनी,  पार्षद गणेश दहिया, राजेश पटेल, सुनील तिवारी, प्रभात तिवारी, गौस भाई आजाद, सचिन श्रीवास्तव,  मुन्ना भाईजान, शेख साबिर,मनीष बिरहा, साकेत पिडिहा, सतेंद्र पटेल, जितेंद्र पटेल ने बताया कि पूरे शहर में लोग पीने के पानी को लेकर हलाकान हैं, वही जिम्मेदार अधिकारियों के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही। हैंड पंप हवा उगल रहे हैं समर्सिबल बंद पड़े हैं हिरण नदी में पानी नहीं है। 

24 घंटे में हो जल संकट का निदान, नहीं तो होगा उग्र आंदोलन

कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ताओं ने प्रशासन को चेतावनी दी कि यदि 24 घंटे के अंदर शहर के जल संकट को दूर नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा जिसकी समस्त जवाबदारी शासन प्रशासन की होगी। शहर के लोग एक सप्ताह से सुन रहे हैं कि हिरण नदी में बरगी दाएं तट नहर का पानी छोड़ा जा रहा है, लेकिन अभी तक खितौला हिरण नदी घाट में पानी नहीं पहुंचा अभी यह हाल है तो मई माह में क्या होगा।
Previous Post Next Post