सिर्फ नाम की 10 घंटे थ्री फेस बिजली मिल रही 4 से 5 घंटे

सिर्फ नाम की 10 घंटे थ्री फेस बिजली मिल रही 4 से 5 घंटे

कटौती से भड़के किसान : मूंग और उड़द की सिंचाई के लिए नहीं मिल रही बिजली, आक्रोशित किसानों ने घेरा बिजली मझगवां (सरौली) सब स्टेशन


मझगवां

कृषि कार्य के लिए किसानों को 10 घंटे बिजली देने का वादा तो सरकार कर रही है लेकिन बिजली कंपनी के अधिकारियों की मनमानी के चलते सिर्फ 4 से 5 घंटे ही बिजली मिल रही है उसमें भी ट्रिपिंग अलग से। मूंग और उड़द की सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली नहीं मिलने से आक्रोशित किसानों ने शुक्रवार को मझगवां (सरौली) सब स्टेशन का घेराव कर दिया। आक्रोशित किसानों ने बिजली कंपनी के अधिकारियों पर आरोप लगाया कि लोड नहीं मिलने के कारण लगातार ट्रिपिंग हो रही है और किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली नहीं मिल पा रही। ऐसे में ग्रीष्मकालीन फसल खराब होने की कगार पर पहुंच गई है। 

ये है पूरा मामला

अखिल भारतीय ओबीसी महासभा के ब्लॉक अध्यक्ष जितेंद्र कुर्मी, किसान मोर्चा के ब्लॉक अध्यक्ष दीपक पटेल, सामाजिक कार्यकर्ता अखिलेश शारदानंद पटेल, ब्लॉक सचिव संत कुमार पटेल, आशीष पटेल, रणजीत दहिया, बिहारी पटेल, बहादुर काछी, अवसर पटेल, राजा पटेल, महेंद्र पटेल, मेंबर पटेल के साथ बड़ी संख्या में क्षेत्र के किसान दोपहर करीब 2:00 बजे के लगभग मझगवां (सरौली) सब स्टेशन का घेराव कर दिया। आक्रोशित किसानों ने बिजली कंपनी के अधिकारियों कर्मचारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और धरने पर बैठ गए। किसानों का आरोप था कि आखिर वे करें तो क्या करें सरकार एक तरफ 10 घंटे बिजली की बात करती है और किसानों को सिंचाई के लिए सिर्फ 3 से 4 घंटे या अधिकतम 5 घंटे ही बिजली मिल रही है उसमें भी करीब 50 बार ट्रिपिंग। 

मौके पर पहुंचे एई, किसानों से बोले जल्द होगा सुधार मिलेगी पर्याप्त

सब स्टेशन के घेराव की खबर लगते ही बिजली कंपनी की एई राकेश गढ़वाल मौके पर पहुंचे। उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया कि कृषि व घरेलू लाइट की अघोषित कटौती जल्द बंद होगी लाइट ट्रिपिंग की समस्या को भी जल्द हल किया जाएगा वहीं कृषि लाइट 10 घंटे और लोड रेगुलर दिया जाएगा साथ ही खराब पड़े ट्रांसफार्मरों को 24 घंटे के अंदर बदलने का पूरा प्रयास रहेगा। तब कहीं जाकर आक्रोशित किसान शांत हुए और धरना प्रदर्शन खत्म किया।
Previous Post Next Post