जिला सिहोरा अधिकार रैली में मुख्यमंत्री को किया आमंत्रित,आकर जिला की सौगात दें मुख्यमंत्रीकल 17 मई को विशाल रैली आयोजित

जिला सिहोरा अधिकार रैली में मुख्यमंत्री को किया आमंत्रित,आकर जिला की सौगात दें मुख्यमंत्री
कल 17 मई को विशाल रैली आयोजित 
   लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति सिहोरा द्वारा विगत सात माहों से प्रत्येक रविवार जिला सिहोरा की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया जा रहा है।आज हमारा 32 वां धरना प्रदर्शन है।आगामी 17 मई 2022 को सिहोरा जिला की मांग पर एक विशाल रैली का आह्वान किया है।
19 वर्ष पहले बन चुका जिला लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने बताया कि
1 1.10.2001 को प्रथम बार सिहोरा जिला कांग्रेस के मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा घोषित हुआ।
2  11.07.2003 को दावे आपत्तियों के निराकरण के पश्चात सिहोरा जिला की चतुरसीमा का निर्धारण करते हुए म प्र सरकार का राजपत्र जारी हुआ।
3  01.10.2003 की म प्र सरकार की कैबिनेट ने सिहोरा जिला के प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगाई।
4  आचार संहिता के चलते निर्णय हुआ कि सिहोरा जिला 26.01.2004 से विधिवत लागू हो जाएगा।
5  05.06.2004 को तत्कालीन मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती ने सिहोरा में आकर पुनः घोषणा की कि देवउठनी ग्यारस(नवंबर 2004) में सिहोरा जिला अस्तित्व में आवेगा।
       इस तरह से जिला बनने की सम्पूर्ण विभागीय प्रक्रिया 2001 से 2003 तक पूर्ण हो चुकी है।वास्तव में सिहोरा 19 वर्ष पूर्व जिला बन चुका है।
राजनैतिक श्रेय की भेंट चढ़ा

 वास्तव में सिहोरा जिला बनने के बाद भी 19 वर्ष से लागू न होने का कारण राजनैतिक श्रेय की लड़ाई है।लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति माननीय मुख्यमंत्री से आग्रह करती है कि वे राजनैतिक भंवर से निकाल सिहोरा को जिला बनावें।यह विशुद्ध रूप से सिहोरा के लोगो की जनभावना है।सिहोरा इसका हकदार है।

मुख्यमंत्री को रैली का आमंत्रण

17 मई 1867 को सिहोरा नगरपालिका बनी थी।17 मई को ही हमने जिला की मांग की रैली के लिए चुना है।इस रैली के माध्यम से यह बात सामने लाई जाएगी कि जिला सिहोरा,सिहोरा के सम्मान का विषय है,सिहोरा का हक है।माननीय मुख्यमंत्री जी 17 मई को सिहोरा आमंत्रित है।आए और सिहोरा जिला लागू करने की घोषणा कर 19 वर्षो की राजनैतिक उपेक्षा का अंत करें।

जिला बनने तक जारी रहेगा संघर्ष

पत्रकार वार्ता में लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने घोषणा की कि वे हर हाल में वर्तमान सरकार से जिला सिहोरा लेकर रहेंगे।जिला सिहोरा के हक को पाने समिति बड़े से बड़ा संघर्ष करने को तैयार है।

विधायक और संगठन अपनी भूमिका निभाएं

 लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने सिहोरा विधायक श्रीमती नंदनी मरावी और उनकी पार्टी के संगठन से कहा कि वर्तमान में सिहोरा को जिला बनाने के लिए जिन अनुकूल परिस्थितियों और समर्थन की आवश्यकता है,वो प्राप्त हो चुकी है।अब विधायक और पार्टी संगठन को अपना कर्तव्य पूर्ण ईमानदारी से निभाना चाहिए।सारी अनुकूल परिस्थितियों को हमने सिहोरावासियों के समक्ष भी रखा है।

17 मई की रैली में शामिल होने अपील

लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति सिहोरा ने सिहोरा, मझौली,बहोरीबंद और ढीमरखेड़ा के लोगों से अपील की कि वे पूरे संख्या बल के साथ 17 मई शाम 4 बजे पुराना बस स्टैंड सिहोरा पहुँच रैली में शामिल हों।
      आज की पत्रकारवार्ता में नागेंद्र कुररिया,विकास दुबे,अनिल जैन,सियोल जैन,मानस तिवारी,रामलाल साहू,नंदकुमार परौहा,रामजी शुक्ला,पन्नालाल,प्रयास मिश्रा सहित अनेक सिहोरावासी मौजूद रहे।
Previous Post Next Post