Ticker

6/recent/ticker-posts

महिलाओं ने लगाई बरगद की परिक्रमा पति की लंबी उम्र की कामना

महिलाओं ने लगाई बरगद की परिक्रमा पति की लंबी उम्र की कामना
वट सावित्री : सत्यवान और सावित्री की सुनी कथा, किया पूजन अर्चन

सिहोरा
 शनि जयंती और वट सावित्री व्रत के चलते सोमवार को त्यौहारों का अनोखा संयोग रहा। इस मौके पर क्षेत्र के गांव गांव में महिलाओं ने बरगद के पेड़ों के नीचे बैठ कर पूजन अर्चन की, सत्यवान सावित्री की कथा सुनी तथा भगवान से अपने पति की लंबी आयु की कामना की।
सिहोरा खितौला स्थित मंदिरों में वट के नीचे महिलाओं ने सूत धागे से 16 बार परिक्रमा लगाकर विपत्ति और संतान की लंबी उम्र की कामना। सिहोरा पुलिस थाने के पास स्थित पटके लक्ष्मी पूजन अर्चन के लिए सुबह से महिलाओं के पहुंचने का क्रम शुरू हो गया था। महिलाओं ने बरगद के पेड़ों की परिक्रमा लगाकर पति की आयु के प्रतीक धागों को बांध कर रक्षा की कामना की। नगर के बाबा का शिव मंदिर, नरसिंह टेकरी खितौला, कॉलेज मैदान स्थित मंदिर, न्यायालय परिसर स्थित वट वृक्ष सहित अन्य स्थानों पर लगे बरगद के पेड़ों के नीचे पूजन किया। महिलाओं ने पूजन अर्चन के बाद एक दूसरे को सुहाग सामग्री भी दान की। जगह जगह सुबह से ही महिलाएं पूजन की तैयारियों में जुटी रहीं। गर्मी के बावजूद अपरान्ह तक पूजन के क्रम एवं महिलाओं की भीड़ बरगद के पेड़ों के नीचे देखी गई। ज्‍येष्‍ठ माह के शुक्‍ल पक्ष की अमावस्या को वट  किया जाता है। सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए यह व्रत रखती हैं। कहा जाता है कि इस दिन सावित्री अपने पति सत्‍यवान के प्राण यमराज से वापस लेकर आईं थीं। जिसके बाद उन्‍हें सती सावित्री कहा जाने लगा।