आचार संहिता के चलते तालाब गहरीकरण का कार्य अटका

आचार संहिता के चलते तालाब गहरीकरण का कार्य अटका

गोसलपुर 

सिहोरा तहसील का प्राचीन विशाल रामसागर तालाब जो की गोसलपुर में स्थित है लगभग 18 एकड़ मे फैला है जिसे प्रसिद्ध संत बाबा रामदास ने लगभग 500 वर्ष पूर्व खुदवाया था इस तालाब से पूरे गोसलपुर का जलस्तर बना रहता था यह कभी नहीं सूखता था परंतु इस साल की भीषण गर्मी के चलते यह तालाब पूरी तरह से सूख गया था जिसके गहरीकरण के लिएग्रामवासियों के द्वारा ग्राम पंचायत गोसलपुर के सरपंच सचिव से गहरीकरण की गुहार लगाई गई ग्रामीणों की मांग पर ग्राम पंचायत गोसलपुर के सरपंच सुखदेव पटेल सचिव प्रदीप यादव एवं जनसेवा समिति के पदाधिकारियों द्वारा गत दिवस जिला प्रशासन के मुखिया को पत्र सौंपकर गहरीकरण की मांग की गई थी
इस संबंध में कलेक्टर ने तत्काल जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी को मनरेगा योजना के तहत प्रस्ताव तैयार कर गहरीकरण के निर्देश दिए निर्देश मिलते ही जनपद पंचायत के अधिकारी मनरेगा टीम के अधिकारी ग्राम पंचायत के सचिव द्वारा नाम  जोखकर डीपीआर तैयार की गई परंतु अचानक आचार संहिता लगने के कारण उक्त रामसागर तालाब के गहरीकरण कार्य की फाइल अटक गई अब जन सहयोग से तालाब गहरीकरण की लोगों ने आस लगाई है गौरतलब है की तालाब में बड़ी मात्रा में कीचड़ गंदगी सिल्ट जमी हुई है जिससे तालाब का उथला हो गया है
Previous Post Next Post