Ticker

6/recent/ticker-posts

पुत्र ने उठाई जीवित पिता की फौती जमीन की लालच में करा लिया फर्जी नामांतरण

पुत्र ने उठाई जीवित पिता की फौती जमीन की लालच में करा लिया फर्जी नामांतरण

आवेदक पिता को मिला न्याय : फर्जी फौती व नामांतरण प्रकरण में अनावेदक व पटवारी के विरुद्ध कार्यवाही सुनिश्चित होगी एसडीएम द्वारा तहसीलदार को आदेश

सिहोरा

राजस्व निगम मंडल मझौली के अंतर्गत ग्राम टिकुरी में भूमि के फर्जी फौती नामांतरण एक अजीबोगरीब प्रकरण सामने आया है। जिसमें जीवित पिता के होते फर्जी फौती दर्ज नामान्तरण कर बेटे के नाम किया जाना मिला है।
प्रकरण अनुसार आवेदक बाबूलाल पिता हरिया काछी साकिन टिकुरी तहसील मझौली द्वारा अनआवेदक पुत्र डोरीलाल पिता बाबूलाल काछी के विरुद्ध आवेदन दिया गया किया गया था कि पटवारी हल्का नम्बर39 में स्थित ख. न.81/1,125/1रकवा क्रमशः 0.43,007 हे. भूमि है। उक्त भूमि  वर्ष 2014-15 से 2017-18 तक आवेदक पिता के नाम पर पाँचसाला खसरा दर्ज है। आवेदक ने जब  खसरा की सत्यप्रति  निकलवाई तो उसे पता चला कि 2018-19 से आवेदक की भूमि उसके पुत्र अनावेदक के नाम दर्ज है।एवम 2019-20 उक्त खसरे के कालम नम्बर 12 कैफियत में दर्ज है।
उक्त प्रकरण का आवेदक की आवेदन पत्र की प्रति हल्का पटवारी प्रतिवेदन पंचनामा  दस्तावेजों की अवलोकन से पाया गया कि उक्त खसरा व रकवा नंबर की भूमि  आवेदक के हक की भूमि है।
आवेदक बाबूलाल काछी जीवित है व त्रुटि सुधार हेतु आवेदन किया व स्वतः न्यायालय में उपस्थित होकर भी सुधार के लिए आवेदन प्रस्तुत किया है।अतःअनावेदक डोरीलाल पिता बाबूलाल काछी का नाम  अलग कर आवेदक बाबूलाल पिता हरिया काछी का नाम दर्ज कर अभिलेख   81/1, 125/1 का रकवा क्रमशः 0.43, 0.07 दुरुस्त करने निर्णय किया है।
 पटवारी वा अनावेदक के विरुद्ध कार्यवाही

 अनुविभागीय अधिकारी सिहोरा आशीष पांडे ने तहसीलदार मझौली को निर्देशित किया है कि जिस पटवारी द्वारा आवेदक की फर्जी फौती नामांतरण दर्ज कर  अनावेदक का नाम दर्ज किया गया है उस पटवारी वा अनावेदक के विरुद्ध कार्यवाही करना सुनिश्चित करें एवं की गई कार्रवाई से इस न्यायालय को अवगत करावें।