दबंग अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कार्यवाही की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा प्रशासन सो रहे जिम्मेदार आम जनमानस में आक्रोश राजस्व व पंचायत प्रशासन की फूल रही सांसे

दबंग अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कार्यवाही की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा प्रशासन सो रहे जिम्मेदार आम जनमानस में आक्रोश राजस्व व पंचायत प्रशासन की फूल रही सांसे

गोसलपुर

सिहोरा तहसील के गोसलपुर झंडा बाजार में लगातार बढ़ रहे अतिक्रमण की शिकायत को लेकर अखबारो में लगातार खबर छाप कर शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया गया
परंतु बाजार में पूंजीपतियों राजनेताओं व दबंग लोगों के अवैध कब्जे को हटाने मे स्थानीय राजस्व अमला व पंचायत प्रशासन की सांसें फूल रही है खबर छपने के बाद भी न तो अतिक्रमणकारियों की सूची बनाई गई न ही उन्हें चिन्हित किया गया न ही किसी प्रकार के नोटिस जारी किए गये जहां एक ओर मध्यप्रदेश में माफिया दमन अभियान के खिलाफ अतिक्रमण हटाकर वाहवाही लूटी जा रही है फिर
आखिरकार झंडा बाजार गोसलपुर के अतिक्रमण हटाने की हिम्मत प्रशासन क्यों नही जुटा पा रहा है यह नगर में चर्चा का विषय बना हुआ

वहीं प्रशासन शिकायत मिलने का इंतजार कर रहा है जबकि
गोसलपुर झंडा बाजार बस स्टैंड में हो रहे बेतहाशा अतिक्रमण को स्थानीय ग्राम पंचायत के सचिव कोटवार हल्का पटवारी तहसीलदार व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को सब कुछ भली-भांति पता है इसके बावजूद भी कार्यवाही न होना पक्षपात पूर्ण रवैया को दर्शा रही है
ततसंबंध में शीघ्र ही नगर के जागरूक व्यक्तियों का एक प्रतिनिधिमंडल कलेक्टर जबलपुर से मिलकर चर्चा करेगा

झंडा बाजार के अतिक्रमणकारियों पर कब होगी कार्रवाई ?

गोसलपुर पटवारी हल्का नंबर 19 के आबादी खसरा नंबर 355/1 में पिछले कई वर्षों से राजस्व अमले की अनदेखी के चलते लगातार वहां पर बसे लोगों ने अतिक्रमण कर आलीशान मकान बना लिए है और जिम्मेदार गहरी नींद मे सो रहे है
अतिक्रमणकारियों के खिलाफ प्रशासन को कार्रवाई करने के नाम पर पसीना छूटता है  क्योंकि लोगों का कहना है की झंडा बाजार में बड़े बड़े पूंजीपति व्यवसायी राजनेता कबजा कर सड़कों पर निजी बोर करा कर टीन के सेड बनाकर पक्के मकान बनाकर कब्जा किए हुए है

 मूल सवरूप खतम

लोगों का कहना है की गोसलपुर के बाजार स्थल में बुधवार के दिन साप्ताहिक बाजार भरता है जहां पर लगभग एक सैकड़ा गांव के लोग खरीदारी करने बाजार आते है जहा का रकवा लगभग 7 एकड़ के आसपास था परंतु अतिक्रमणकारियों की हवस के चलते यह धीरे-धीरे आधा बचा और झंडा बाजार अपना मूल स्वरूप खोकर बेनूर सी हो गयी आज स्थिति यह है की झंडा बाजार में वाहन पार्किंग तक की पर्याप्त जगह नही बची

 अभियान की खुली पोल

जहां एक ओर माफिया दमन अभियान चलाकर शासकीय जमीनो को कब्जामुक्त कराया जा रहा है वहीं अधिकारियों की अनदेखी के चलते गोसलपुर मे यह अभियान दम तोड़ता नजर आ रहा है

सौंपेंगे ज्ञापन

सर्वदलीय एकता मंच के पदाधिकारियों ने बताया की अगर से झंडा बाजार गोसलपुर से अतिक्रमण नहीं हटाया जाता तो शीघ्र ही तहसील प्रशासन के अधिकारियो की लापरवाही का एक ज्ञापन जिला प्रशासन के मुखिया को सौपकर अवैध अतिक्रमण हटाने की मांग की जावेगी

दस्तावेजों की हो जांच

ग्राम के प्रबुद्ध जनों का कहना है की झंडा बाजार में बने मकानों के दस्तावेजों की जांच अगर बारीकी से की जावे तो दस्तावेजों मे दर्ज रकवे से तीन गुना अधिक अबैध कबजा पाया नालों में तन गई है इमारते अतिक्रमण की प्रतिस्पर्धा में बस स्टैंड गोसलपुर में भी अतिक्रमणकारियों ने गांव के नाला मे मकान बना लिए है

इनका कहना है

आपके द्वारा मामला मेरे संज्ञान में लाया गया है मैं जल्द ही अतिक्रमण हटाने सिहोरा एसडीएम को निर्देशित करूंगी
सुश्री विमलेश सिंह अपर कलेक्टर जबलपुर ग्रामीण

ग्राम पंचायत के सचिव पीसीओ व अन्य की टीम गठित कर बेजाकब्जा धारियो को चिन्हित कर वैधानिक कार्रवाई
की जाएगी
श्रीमती आशादेवी पटले
मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सिहोरा

शीघ्र ही राजस्व टीम गठित कर अतिक्रमणकारियों को नोटिस जारी कर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की जावेगी
आशीष पांडे एसडीएम सिहोरा
Previous Post Next Post