We- report लटिया -पकरिया का खेल मैदान अधूरा,गांव की प्रतिभाओं सहित प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने वाले विद्यार्थियों को हो रही समस्या

सीता टंडन जांजगीर चांपा

फ़ाइल फ़ोटो

जांजगीर । अकलतरा के ग्राम पंचायत लटिया पकरिया का खेल मैदान अहाता के अभाव मे अधूरा है । गांव के खिलाड़ी युवाओं को कास्टेबल , एस एस सी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी मे परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है । एक ओर शासन युवाओं को खेल और शारीरिक गतिविधियों को करने के लिए प्रोत्साहित करती है जिससे युवाओं को खेल के प्रति रुचि बढ़े साथ ही उनमे फिटनेस के प्रति जागरूकता आये जिससे देश की भावी पीढ़ी स्वस्थ और मजबूत रहे लेकिन वही शासन के नुमाइंदे युवाओं के भविष्य और स्वास्थ्य का पैसा खाने में भी गुरेज नही करते है । लटिया पकरिया में बनने वाला खेल मैदान का अहाता बेजाकब्जा की लड़ाई अब भी लड़ रहा है जबकि मामला शीशे की तरह साफ था । बेजा कब्जाधारी ने गलत आवेदन तहसीलदार को दिखाया जिसे तहसीलदार ने खारिज कर दिया था लेकिन बेजा कब्जाधारी ने माननीय सिविल कोर्ट की शरण ली है और यह मामला अब भी सिविल कोर्ट में चल रहा है ।


युवाओं में रोष व्याप्त
गौण खनिज मद का दुरुपयोग

युवाओं का कहना है कि लटिया पकरिया अकलतरा से लगा हुआ होने के कारण यह मैदान अत्यंत महत्वपूर्ण है । इस मैदान में चाहे तो ब्लाक स्तरीय अनेक प्रतियोगिता का आयोजन किया जा सकता है जिससे नयी प्रतिभाओ को उभरने का मौका मिलेगा लेकिन भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे इन सरपंच सचिव और जनपद पंचायत के अधिकारियों-कर्मचारियों को यह कहां दिखाई देता है । अगर यह मैदान पूर्ण हो जाता है तो अनेक गतिविधियों को यहाँ किया जा सकता है परंतु सरपंच और सचिव के साथ यहां के इंजीनियर भी केवल गौण खनिज का पैसा खा रहे है अन्यथा इतनी बड़ी राशि मे क्या तीन ओर से दीवार बनना संभव नहीं था लेकिन गौण खनिज मद जैसी दुधारू गाय है जो बारहो महीने दूध दे रही है इसलिए हर काम में भ्रष्टाचार एक अनिवार्य योग्यता की तरह हर ओर काबिज है
 



मै पहले इस विषय में तकनीकी सहायक से पता करता हूँ साथ ही मैदान का निरीक्षण भी करवा कर इस विषय मे आपको बता पाऊंगा ।

सीईओ जनपद पंचायत अकलतरा

इस अहाता निर्माण की राशि खत्म हो गई हैं । अगले वर्ष गौण खनिज मद से इसे पूरा किया जायेगा । इस जमीन को लेकर गांव के एक व्यक्ति ने सिविल कोर्ट में याचिका लगाई है और दावा किया है कि इसका पट्टा उसके पास है ।

सरपंच लटिया पकरिया

इस जमीन का विवाद माननीय कोर्ट में लंबित है । गांव के एक व्यक्ति ने मात्र आवेदन के आधार पर तीन एकड़ पर अपना कब्जा बताया है जिस पर ग्राम पंचायत ने तहसील में शिकायत दर्ज कराई थी । अब यह मामला माननीय सिविल कोर्ट में चल रहा है ।

दिलेश्वर साहु जिला पंचायत सदस्य
Previous Post Next Post