Ticker

6/recent/ticker-posts

Wee -report : राज्यपाल का ट्विटर अकाउंट हैक, सचिवालय की शिकायत पर रायपुर में f.i.r.

छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके के आधिकारिक ट्विटर हैंडल 'गवर्नर सीजी' को हैकरों ने गुरुवार को दो बार हैक किया। ट्विटर हैक करने के बाद क्रिप्टोकरेंसी के समर्थन में एक-दो नहीं बल्कि 17 बार पोस्ट किया गया है। आनन-फानन में सचिवालय के लोगों ने पासवर्ड बदलकर राज्यपाल का अकाउंट बहाल कर लिया, लेकिन शाम को फिर ट्विटर हैक हो गया। राज्यपाल सचिवालय की शिकायत पर हैकर्स के खिलाफ रायपुर के सिविल लाइन थाने में 66B, 66C और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। राजभवन की गतिविधियों को उक्त ट्विटर अकाउंट पर अब साझा नहीं किया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक गुरुवार की सुबह राज्यपाल अनुसुईया उइके का ट्विटर अकाउंट को हैकर्स ने हैक कर लिया। ट्विटर पर एलन मस्क की ओर से एक पोस्ट डाली गई। ट्वीट में लिखा गया कि क्रिप्टोकरेंसी कई स्तरों पर एक अच्छा विचार है। इसका भविष्य आशाजनक है। इस पोस्ट को टैग करते हुए छत्तीसगढ़ के राज्यपाल के आधिकारिक हैंडल से एक जवाब पोस्ट हुआ। लिखा गया कि यह एक बड़ा समाचार है। उसके बाद 15 और बार यही वाक्य अलग-अलग तरीके से पोस्ट किया गया। बाद में लिखा गया कि यह एक बड़ा दिन है। अकाउंट हैक होने की जानकारी के बाद तकनीकी टीम ने मोर्चा संभाला। सोशल मीडिया टीम ने एकाउंट का पासवर्ड बदल दिया और सब कुछ नियंत्रण होना बताया, लेकिन शाम को फिर ट्विटर हैंडल हैक कर लिया गया।

रायपुर पुलिस कर रही मामले की जांच 

राज्यपाल के ट्विटर एकाउंट हैक होने की जानकारी के बाद पासवर्ड बदलकर रीस्टोर किया गया था। उसके बाद सभी संदिग्ध पोस्ट को हटाया गया था। शाम को फिर हैक कर पोस्ट कर 9 बार लिखा कि यह तो आसान लगता है। अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि यह साइबर अटैक कहां से हुआ था। राज्यपाल सचिवालय ने साइबर सेल और सिविल लाइन थाने में पूरे मामले की शिकायत की है। कार्रवाई के लिए रायपुर एसपी को भी पत्र भेजा गया है। पुलिस ने हैकर्स के खिलाफ धारा 66B, 66C और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। रायपुर एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि एफआईआर दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।