20 गांव में 8 दिन से ठप पड़ी घरेलू और कृषि पंप लाइन

20 गांव में 8 दिन से ठप पड़ी घरेलू और कृषि पंप लाइन 


मझौली ब्लाक के मोहला सब स्टेशन का बताया जा रहा है पूरा मामला

फूटा किसानों का गुस्सा : आक्रोशित किसानों ने घेरा सिहोरा एमपीईबी कार्यालय, फूंका कार्यपालन यंत्री का पुतला


सिहोरा 

सिहोरा संभागीय कार्यालय से जुड़े मझौली ब्लाक के मोहला सब स्टेशन के अंतर्गत आने वाले 20 से अधिक गांव में पिछले सप्ताह भर से घरेलू और कृषि लाइन बंद होने से किसान और गांव के लोग हलकान और परेशान थे। सिंचाई के लिए बिजली नहीं मिलने से किसानों की मूंग और उड़द की फसल सूखने की स्थिति में पहुंच गई। रविवार को क्षेत्र के आक्रोशित किसानों ने सिहोरा एमपीईबी कार्यालय का घेराव कर दिया। आक्रोशित किसानों ने एमपीईबी में जमकर नारेबाजी की। इसके बाद आक्रोशित किसानों और ग्रामीणों ने कार्यपालन यंत्री का पुतला फूंका। किसानों ने आरोप लगाया कि बिजली नहीं मिलने से मुंह और उड़द की फसल पूरी तरह सूखने लगी। घरेलू बिजली नहीं होने से गांव के लोग बूंद-बूंद पानी के लिए परेशान हैं।


ये है पूरा मामला 

सिहोरा संभागीय कार्यालय के अंतर्गत आने वाले मोहला सब स्टेशन के 20 गांव में बीते रविवार को चली तेज आंधी के बाद से बिजली व्यवस्था पूरी तरह ठप पड़ी है। कृषि पंपों को बिजली नहीं मिलने से मूंग और उड़द की फसल सूखने की स्थिति में पहुंच गई है, वहीं गांव में बिजली बंद होने से पीने के पानी को ग्रामीण तरस रहे हैं। रविवार को संबंधित गांव से जुड़े आक्रोशित किसान नारेबाजी करते हुए सिहोरा संभागीय कार्यालय पहुंचे। पूर्व जनपद सदस्य प्रदीप पटेल, रामकृष्ण पटेल मोटा, दिनेश पटेल, पुष्पेंद्र पटेल, दिलीप पटेल, सोनू पटेल, धर्मेंद्र पटेल, छोटू पटेल, सुशील पटेल, अरुण पटेल, लखन पटेल, कमलू पटेल, मंजू पटेल, रुद पाल ने आरोप लगाया कि बिजली कंपनी के अधिकारी जानबूझकर मोहला सब स्टेशन की लाइन पर किए हैं। आक्रोशित किसानों ने कार्यालय के अंदर ही जमकर नारेबाजी शुरू कर दी। 

नहीं सुनी किसानों की बात, फूंका डीई का पुतला

मौके पर संबंधित अधिकारियों द्वारा जब किसानों की कोई भी बात नहीं सुनी गई तो आक्रोशित किसानों ने मौके पर ही बिजली कंपनी के कार्यपालन यंत्री का पुतला फूंक दिया। किसानों के एमपीईबी  पहुंचने की खबर लगते ही सिहोरा थाने का पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गया।
Previous Post Next Post