मझौली में हुई अंधी हत्याकांड का खुलासा

मझौली में हुई अंधी हत्याकांड का खुलासा :

 पत्नी और बेटे ने दामाद और तीन दोस्तों के साथ मिलकर पति को उतारा मौत के बाद

थाना मझोली अंतर्गत हुई जघन्य अंधी हत्या का खुलासा
 
तीन आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, दो आरोपियों की सरगर्मी से तलाश

हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी और मोटरसाइकिल पुलिस ने कि जप्त

मझौली

 थाना मझोली अंतर्गत चौकी इंद्राना में दिनॉक 19 जून को शाम लगभग 6-30 बजे ग्राम कोनीकला में एक अज्ञात व्यक्ति का शव पडे होने की सूचना पर तत्काल चौकी प्रभारी इंद्राना, थाना प्रभारी मझोली पहुंचे, धर्मेन्द्र भूमिया निवासी कोनीकला ने बताया कि वह ग्राम कोनीकला का कोटवार है। उसी दिन शाम शाम लगभग 4-30 बजे घर में था तभी गांव के बकरी चराने वाले कुछ बच्चे घर आकर बताये कि भैया आपके खेत से कुछ दूरी पर कैथे के पेड़ के पास रोड किनारे खेत में चादर में लिपटी एक लाश पड़ी है तो वह बच्चों के द्वारा बताये स्थान पर पहुंचा देखा कि प्रदीप सिंह राजपूत के खेत में झाड़ियों के पास मेन रोड किनारे छीेटेदार चादर में लिपटा एक शव जिसके घुटने से नीचे तरफ पैरों वाला हिस्सा पंजा तक दिखाई दे रहा था, पैरों की स्थिति देखकर लगा कि शव पेट के बल जमीन पर पड़ा है।
   एफएसएल टीम की उपस्थिति में चद्दर को हटाया गया  शव का धड़ से ऊपर का हिस्सा गर्दन एवं सिर , दाहिने हाथ की केाहनी के नीचे का हिस्सा कट कर नहीं था, मृतक के शरीर के दोनों कंधे, छाती, वायें हाथ के पंजे एवं पीछे की तरफ ऊपरी हिस्से में किसी धारदार हथियार से चोटें थी।

                     दौरान तलाश के ग्राम मुरगवां थाना कटंगी में एक कटा हुआ सिर एवं हाथ पड़े होने की सूचना पर मौके पर पहुच कर निरीक्षण किया गया, निरीक्षण पर पाया गया कि कटे हुए हाथ मे M.K. लेख है तथा कलाई के उपर पीछे तरफ ओम बना हुआ है, उपरोक्त अवशेषों को ग्राम कोनीकला में मिले अज्ञात मृतक के होने की सम्भावना के चलते पंचनामा कार्यवाही कर पीएम हेतु भिजवाया गया।
                  मर्ग जांच, शव पंचनामा कार्यवाही, घटनास्थल निरीक्षण पर किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा अज्ञात पुरूष की किसी धारदार हथियार से सिर एवं हाथ काट कर तथा शरीर में अन्य स्थान पर चोट पहुॅचा कर हत्या कर साक्ष्य छिपाने की नियत से चादर में लपेट कर 2 अलग अलग स्थानों पर फैंक देना पाया जाने पर अज्ञात व्यक्ति के विरूद्ध दिनॉक 20-6-2022 को धारा 302, 201 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।   दौरान विवेचना के थानों में दर्ज गुमइंसान से मिलान एवं अज्ञात मृतक की पहचान के प्रयास किए गये परन्तु कुछ पता नही चल सका। दौरान पतासाजी के ग्राम कोनीकला मझोली से सूचना मिली की गांव का मनोज सिंह राजपूत दिनांक 18/06/22 से घर नही आया है तस्दीक हेतु मनोज सिंह की पत्नी कलेशा बाई एवं पुत्र कविराज को अज्ञात मृतक के फोटोग्राफ्स, तथा हाथ मे बना M.K तथा ओम, दिखाया गया तो कलेशा बाई द्वारा मृतक की पहचान अपने पति   मनोज सिंह  उम्र 44 वर्ष निवासी ग्राम कोनीकला के रूप मे की । कलेशा बाई ने शव से लिपटे हुए चादर एवं खोल को अपने घर का ही होना बताया ।
                मृतक मनोज सिंह की पत्नी कलेशा बाई एवं पुत्र कविराज से  सघन पूछताछ की गयी जिस पर पाया गया कि मृतक मनोज सिंह ने अपनी जमीन को बिना परिवार की सहमति के औने-पौने दाम पर  बेच दिया था,  बाकी बची हुय़ी जमीन को भी औने पौने दामों पर बैचने का सौदा कर रहा था बिकी हुयी जमीन का पैसा घर में नहीं दे रहा था एवं मिले हुये रूपयों को शराब पीकर खर्च कर रहा था, तथा शराब पीकर अक्सर मारपीट करता था। जिसके चलते मृतक के पुत्र कविराज, पत्नी कलेशा बाई तथा मृतक के बडे भाई के दामाद के छोटे भाई अभिषेक ने अपने दोस्त अमित एवं अन्नू चढार के साथ मिल कर  मनोज सिंह की हत्या की योजना बनाई और दिनांक 18-19/06/22 की दरम्यिानी रात को घर के अंदर कुल्हाडी से हमला कर पांचों ने मनोज की हत्या करते हुये   पकडे जाने के डर से साक्ष्य छुपाने के लिए धड, सिर तथा हाथ को अलग अलग काट कर अलग अलग स्थान पर अभिषेक की दोपहिया वाहन की मदद से  फेंक दिया था।
              मृतक के  पुत्र कविराज, पत्नी कलेशा बाई तथा मृतक के बडे भाई के दामाद के छोटे भाई अभिषेक को अभिरक्षा में लेते हुये, घटना में प्रयुक्त कुल्हाडी एवं मोटर सायकिल जप्त करते हुये  फरार अमित एवं अन्नू चढार की सरगर्मी से तलाश जारी है।

 
Previous Post Next Post