फार्म स्कूटनी के दौरान मझौली तहसील में बनी तनाव की स्थिति

फार्म स्कूटनी के दौरान मझौली तहसील में बनी तनाव की स्थिति 
मझौली जनपद क्रमांक 6 का है मामला : दूसरे पक्ष ने दर्ज कराई आपत्ति चुनाव आयोग से शिकायत की कही बात

मझौली

मझौली तहसील में मंगलवार को जनपद ,सरपंच ,एवं पंच के फार्मों की स्कूटनी का काम चल रहा था, तभी मझौली जनपद के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र क्रमांक 6 में फार्म स्कूटनी के दौरान गहमा गहमी का माहौल निर्मित हो गया। यहां दोनों पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगाते रहे जनपद क्षेत्र 6 से चुनाव के लिए विद्या दिनेश चौरसिया एवं रीता सोनेलाल पटेल ने आवेदन जमा किया था, जिसमे विद्या दिनेश चौरसिया ने बतलाया कि रिटर्निंग अधिकारी तहसीलदार मझौली प्रदीप मिश्रा के द्वारा समय दोपहर 2.30 पर फार्म में अभ्यर्थी के हस्ताक्षर न होने एवं जनपद पंचायत की एनओसी न होने के कारण रीता कमलेश पटेल का फार्म निरस्त कर दिया गया। 
  इस पर विद्या दिनेश चौरसिया के द्वारा आपत्ति दर्ज की गई एवं फार्म को निरस्त करने की बात कही गई। जब इस मामले में मझौली हसीलदार प्रदीप मिश्रा से बात की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि फार्म में हस्ताक्षर एवं एनओसी होने की बात सही है, परंतु अभ्यर्थियों के द्वारा आवेदन करते समय भूलबस कोई कमी रह जाती है तो उसको सुधार करने का अवसर दिया जाता है इसलिए इसका पुनाराववालोकन कर आवेदक के हस्ताक्षर कर एवम जनपद की एनओसी लेकर फार्म स्वीकृत कर लिया गया। जिस पर दूसरे पक्ष ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी। वही जब इस मामले में दूसरे पक्ष से बात की गई तो उसने बताया कि फार्म जमा करते समय उन्होंने पुरे दस्तावेज लगाए थे उसकी पावती भी उनके पास है। जिसमे सभी दस्ताबेज होने के पर उसमे टिक भी किया गया है। इस पूरे मामले में बहुत देर तक गहमा गहमी का माहौल तहसील कार्यालय में बना रहा, वही दूसरे पक्ष ने इस मामले की शिकायत चुनाव आयोग से करने ली बात भी कही है।
Previous Post Next Post