Ticker

6/recent/ticker-posts

WEE REPORT- भारतीय किसान संघ ने समितियों में मिलने वाली गुणवत्ता विहीन वर्मी कंपोस्ट खाद के विरोध एवं समितियों में पर्याप्त मात्रा में खाद एवं बीज के भंडारण सुनिश्चित करने हेतु मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

बिलासपुर। भारतीय किसान संघ ने समितियों में मिलने वाली गुणवत्ता विहीन वर्मी कंपोस्ट खाद के विरोध में एवं समितियों में पर्याप्त मात्रा में खाद एवं बीज के भंडारण सुनिश्चित करना हेतु जिला कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा।

किसानों का कहना है की गोठानों में पूरे विधि से खाद बनाई नहीं जा रही है तो वह खाद गुणवत्तापूर्ण कैसे हो सकती है। केंचुआ खाद के अंदर मिट्टी, पत्थर, पॉलिथीन आदि अमानक पदार्थ मिले हुए हैं। 30 किलो खाद के स्थान पर बोली का वजन 27-28 किलो ही है। ऐसे में किसान क्यों प्रति एकड़ अपने एक हजार का नुक़सान करायेगा।

ग्राम बहतराई के किसान माधोसिंह का कहना है की मेरे घर पर बहुत सारे गौवंश है उनका ही गोबर मेरे खेती के लिए पर्याप्त है और अभी तो वेस्ट डीकंपोसर जैसे तत्व भी आने लगे हैं जो गोबर को 60 दिनों में बढ़िया खाद में तब्दील कर देते हैं तो हम जैसे अन्य किसानों को जबरिया ऐसी अमानक खाद देकर किसानों को क्यों ठगना।
भारतीय किसान संघ जिलाध्यक्ष धीरेन्द्र दुबे का कहना है सरकार सीधे सीधे किसानों को बंधक बनाने का कार्य कर रही है चाहे धान बेचने के लिमिट 15 क्विंटल की बात हो चाहे सीमित टोकन काटने की बात हो चाहे बेवजह रकबा कटौती की बात हो चाहे धान खरीदी की सीमित तिथि की बात हो या अब  गुणवत्ताविहीन वर्मी खाद को लेने की अनिवार्यता का आदेश निकाल कर किसानों तो बंधक बनाकर सरकार लूट रही है। यदि हम कृषि वैज्ञानिकों की अनुशंसा की बात करें तो उनका कहना है प्रति एकड़ 2 से 3 टन के लगभग वर्मी कंपोस्ट खाद की आवश्यकता है और ऐसे में एक क्विंटल प्रति एकड़ डलवाने बाध्य करना ये सरकार की गलत निति है। इसके साथ ही उन्होंने खाद एवं बीज का विषय उठाया समितियों में खाद एवं बीज का पर्याप्त भंडारण नहीं हो पाया है भंडारण तत्काल कराया जाय। 
किसान संघ के जिला मंत्री  हेमंत सोनू तिवारी ने कहा की  खुले बाजार में व्यापारियों द्वारा रासायनिक खाद उचित मूल्य से अधिक में विक्रय किये जाने बहुत से किसान शिकायत कर रहे हैं और यदि खाद सही मूल्य पर दे रहे हैं तो उस पर कोई न कोई लदान अवश्य दें रहे हैं। प्रशासन ऐसे दुकानदारों के छापे डलवाकर उन कर सख्त कार्यवाही करे।
ज्ञापन देने जिले के किसान रामसेवक कुशवाहा, लक्छमी सिन्हा ,विक्रम सिंह ,अनिल पटेल , मनहरण साहू ,महेश यादव ,राकेश भोसले ,धर्मराज सिंह , लक्छमी साहू ,खगेश साहू ,आनंद ध्रुव , घनश्याम पटेल , उमाशंकर कुशवाहा , ओमप्रकाश साहू ,पहारूराम साहू ,कृष्णकुमार साहू , साधराम सहित बड़ी संख्या में जिले किसान उपस्थित थे ।