Ticker

6/recent/ticker-posts

Weenews : एनटीपीसी के राखड़ डेम से उड़ रही राखड़, परेशान ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन

राखड़ से परेशान ग्रामीणों से सौंपा ज्ञापन

मस्तूरी । एनटीपीसी के द्वारा एकत्रित की गई राखड़ से परेशान ग्रामीणों नारे बाजी करते हुए तहसील कार्यालय पहुंचकर न तहसीलदार अतुल वैष्णव को ज्ञापन सौंपकर समस्या से निजात दिलाने मांग की ।
 ज्ञात हो कि एनटीपीसी के राखड़ बांधों से आसपास के कई गांवों में लोगों का जीना दुभर हो गया है । ग्रामीणों ने बताया कि लोग अब बीमारियों की चपेट आ रहें हैं । दरअसल एनटीपीसी के यहां पावर प्लांट के राखड़ डैम के कारण राख की आंधियों ने तबाही मचा दी है । राखड़ के उड़ने से लोगों के घरों में खाना भी नशीब नहीं होता । बने हुए भोजन में राखड़ डस्ट उड़कर चला जाता है । ग्रामीणों की मानें तो लोग ' छोटे छोटे बच्चों को दूसरे गांव भेजने के लिए मजबूर हो जाते हैं । गर्मी आते ही इस इलाके के ग्राम रॉक , रलिया , हरदाडीह , भिलाई , सुखरीपाली , कौड़यिा , आसपास के कई गांवों में राख की आंधियां चलती हैं । ग्राम पंचायत सुखरी पाली के रेवाशंकर बताया कि एनटीपीसी राखड़ से हम लोग नारकीय जिंदगी जीने के लिए विवश हैं । गांव में राखडू डेम बनाकर लोगों को बीमार बना दिया है । लोग बीमार हो रहे हैं । ग्राम गतोरा निवासी देव सिंह पोर्ते का कहना है कि राख से कई तरह की बीमारियां हो रही हैं । यदि हमें इस राखड़ से तत्काल निजात नहीं दिलाया जाता है तो हम उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे । वर्षों से राखड़ से परेशान ग्रामीणों ने आगामी दिनों में उग्र आंदोलन का निर्णय लेते हुए बुधवार को जिला प्रशासन के नाम तहसीलदार , जनपद सीईओ व मस्तूरी थाना में ज्ञापन सौंपकर समय रहते उचित कार्रवाई करने की मांग की है । इस सम्बंध में एनटीपीसी के पीआरओ नेहा खत्री का कहना है कि तेज हवाओं के कारण ऐसा होता है । राखड़ में पानी भरा जाता है । आसपास के गांव में भी टैंकर से पानी डलवाया जाता है ।