नगर पालिका चुनाव में विकास के मुद्दे गायबप्रत्याशी दल के चिन्ह मांग रहे वोट

नगर पालिका चुनाव में विकास के मुद्दे गायब
प्रत्याशी दल के चिन्ह मांग रहे वोट

सिहोरा


 नगर पालिका चुनाव में मतदान को महज पांच दिन बचे हैं लेकिन राजनैतिक दलों के चुनाव प्रचार से विकास का मुरा पूरी तरह गायब है। शहर में न तो जागरूक मतदाता अपने प्रत्याशियों से सवाल कर रहे हैं और ना ही प्रत्याशी शहर और वार्ड के विकास को लेकर अपना दृष्टिकोण मतदाताओं के सामने रख रहे हैं।

और खुद के चेहरे पर राजनैतिक दल पहली बार प्रत्याशियों के चेहरों पर लोगों से बोट मांग रहे हैं। नगर पालिका चुनाव के लिए पिछले एक सप्ताह के प्रत्याशियों का प्रचार जोरों पर हैं। वाढों में प्रत्याशी समूह के रूप में पहुंचकर लोगों से से अपने पक्ष में मतदान का आग्रह कर रहे है और साथ में मतदाताओं को अपने नाम और प्रतीक चिन्ह का पर्चा थमा रहे है। इस दौरान वे मतदाताओं से हाथ जोड़कर तो कहीं पैर पड़कर आशीर्वाद मांग रहे हैं। नगर के 18 बाड़ों में इसी तरह का प्रचार चल रहा है लेकिन कोई नगर के समग्र

विकास की बात नहीं कह रहा। इस दौरान मतदाता भी प्रत्याशियों से कोई सवाल नहीं कर रहे हैं। वही वजह हैं कि पहली बार नगर पालिका के चुनाव में विकास का मुद्दा गायब हैं।

भाजपा गिना रही उपलब्धियां, कांग्रेस बता रहे कमियां राजनैतिक दलों के नेता भी वाहाँ मैं जाकर कार्यालयों का उद्घाटन कर रहे हैं। मोहों में रैलियां निकाल रहे हैं, लेकिन वे भी शहर की बड़ी समस्याओं के निराकरण की कार्ययोजना को लेकर कोई बात नहीं कर रहे। भाजपा के विधायक सांसद सहित अन्य नेता प्रदेश सरकार को उपलब्धियों को गिनाने में लगे हैं। में इसके अलावा प्रदेश में कांग्रेस कार्यकाल के दौरान शहर का विकास रुकने की बात कह रहे  वहाँ कांग्रेस के नेता शहर का सर्वांगीण विकास नहीं किए जाने के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।
Previous Post Next Post