पार्षद पद के प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आज

पार्षद पद के प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आज
नगरीय निकाय चुनाव : शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में सिहोरा के 18 वॉर्डों की होगी मतगणना, दो कमरों में 10 टेबिलों पर सुबह 8 बजे से शुरू होगी काउंटिंग

निर्दलीय और बागियों के चुनाव लड़ने से भाजपा और कांग्रेस दोनों बेचैन


सिहोरा


नगर पालिका परिषद सिहोरा के पहले चरण में हुए चुनाव की मतगणना रविवार को शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सुबह 8 बजे से होगी। मतगणना को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों ने सारी तैयारी पूरी कर ली है। 18 वार्डों के 80 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा। दो कमरों में 10 टेबिलों में मतगणना की जाएगी। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि दोपहर 12 बजे तक सभी वार्डों के परिणाम सामने आ जाएंगे। 

प्रत्याशियों में ऊहापोह की स्थिति

रविवार को होने वाली मतगणना को लेकर प्रत्याशियों में उहापोह की स्थिति बनी है। इस बार मतदाताओं के साइलेंट रहने के कारण कोई भी प्रत्याशी खुल कर अपनी जीत का दावा नहीं कर रहा है। कई वार्डों में मुकाबला त्रिकोणीय होने से प्रत्याशियों के सारे समीकरण बिगड़ गए हैं। अब देखना यह होगा कि जनता ने किसी अपने वार्ड का पार्षद चुना है और कैसे दिखाया है बाहर का रास्ता। 

बागी और निर्दलीय प्रत्याशियों ने बिगाड़े  समीकरण

भाजपा और कांग्रेस के लिए इस बार के नगर पालिका चुनाव में बागी प्रत्याशियों ने समीकरण गड़बड़ा दिए थे। कई वार्डों में पार्टी से टिकट की चाह रखने वाले बागी चुनाव मैदान में उतर गए। ऐसे में चुनाव परिणाम कई वार्डों में चौंकाने वाले भी सामने आने की संभावना जताई जा रही है। मतदान के बाद दोनों ही दलों के पार्षद पद के प्रत्याशियों में जीत को आशंका जताई जा रही थी। 

निर्दलीय भी बिगाड़ सकते हैं नगरपालिका अध्यक्ष का समीकरण

भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल इस बार के चुनाव में जीत का दावा कर रहे हैं, लेकिन निर्दलीय प्रत्याशियों कम आंकना बड़ी भूल होगी। निर्दलीयों ने चुनाव मैदान में जीत के लिए पूरी ताकत लगा दी। ऐसे में कई वार्डों में निर्दलीय भी जीत कर नगर पालिका अध्यक्ष के पद का समीकरण बना और बिगाड़ सकते हैं। 


आम आदमी पार्टी भी खोल सकती है खाता

सूत्रों की मानें तो इस बार चुनाव मैदान में पहली बार उतरी आम आदमी पार्टी भी जीत का खाता खोल सकती है। आम आदमी पार्टी ने इस बार अधिकतर वार्ड से अपने प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारा था। ऐसे में आम आदमी पार्टी कितने भागों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकती है या जीत सकती है यह भी देखना रोचक होगा।
Previous Post Next Post