रोज घायल हो रहे राहगीर जरा सी बारिश में कीचड़ सेसन जाती है सड़क

रोज घायल हो रहे राहगीर जरा सी बारिश में कीचड़ से
सन जाती है सड़क 

बड़े वाहनों की आवाजाही स जर्जर हो गया खिन्नी पहुंच मार्ग
जगह-जगह हुए गड्ढे


सिहोरा

पुराने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 7 गोसलपुर खिन्नी तिराहा से खिन्नी सडक इसकी लंबाई लगभग दस किलोमीटर है सड़क का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत किया गया था परंतु सड़क के बनते ही सड़क के किनारे प्रवाहित हिरन नदी से निकलने वाली रेत में लगे भारी वाहनों एवं इसी रोड में स्थित एक मिनिरल प्लांट स्थापित होने के कारण यहां पर रोजाना दो सैकड़ा बड़े वाहन का आना जाना रहता है जिस कारण यह सड़क खिन्नी तिराहा से घोराकोनी तिराहा तक गड्ढों में तब्दील हो चुकी है पूरी सड़क में सिल्ट जमी हुई हुई है जो धूप में धूल बन कर लोगों को परेशान करती है वही जरा सी बारिश होने पर पूरी सड़क कीचड से सन जाती है जिसमें राहगीरों के दोपहिया वाहन फिसलकर दुर्घटना ग्रस्त हो जाते है
इस सड़क के किनारे स्थित घोराकोनी किनगी मल्हना आमी चनोटा खिन्नी ताला देवरी सहजपुरा वरदहरी मुरैठ कैथरा सहित अनेक गांव के लोग इस सड़क से आवागमन करते है
यह सड़क काफी लंबे समय से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अधिकारियों की अनदेखी के चलते दुर्दशा के आंसू बहा रही है

स्थानय ग्रामीण जन

अशोक दहायत शिवकुमार शर्मा राधेश्याम पटेल रवि पटेल विपिन पटेल प्रदीप सेन रघुनंदन सेन दीनदयाल पटेल प्रमोद पटेल रामकेश  अंबिका यासीन घसीटा ने बताया की इस सड़क से आवागमन करना आने वाली बरसात में बड़ा ही
कष्टदायी साबित होगा लगभग दो किलोमीटर सड़क के हालात बद से बदतर है इन गांवो से शिक्षा अध्ययन करने आने वाली छात्र-छात्राओं को गोसलपुर तक आने-जाने में बड़ी मुसीबत झेलनी पड़ती है अनेकों बार इस संबंध में फैक्ट्री प्रबंधन व जवाबदार अधिकारियों का ध्यान आकर्षित कराया गया
स्थानीय लोगों द्वारा सड़क की मरम्मत व दुर्दशा से निजात दिलाने हेतु धरना प्रदर्शन भी किए गए परंतु हालात जस के तस हैलोगो ने इस सबंध मे जिला प्रशासन के मुखिया से ध्यान देने की मांग की है
Previous Post Next Post