मुरैठ पुल पर झूल रहे मौत के तार

मुरैठ पुल पर झूल रहे मौत के तार

हद दर्जे की लापरवाही मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर जांच की मांग कभी भी हो सकता है वीभत्स हादसा बेपर वाह बनेअफसर 11 केवी हाईटेंशन लाइन को बिना हटाए चालू कर दिया गया पुल से आवागमन

गोसलपुर

 जबलपुर जिले के अंतर्गत मझौली तहसील के कैथरा एवं मुरैठ गांव के बीच से प्रवाहित क्षेत्र की जीवनदायिनी हिरन नदी के मुरैठ पुल का निर्माण कई वर्षों से निर्माणाधीन एजेंसी व संबंधित विभाग की मंथर गति के चलते जैसे तैसे पुल का निर्माण कई वर्षों में तो हो पाया और एक महीने पहले पुल निर्माण करने वाले ठेकेदार और संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा पुल का निर्माण पूरा करके पुल से आवागमन भी चालू कर दिया गया परंतु पुल के ऊपर से निकली 11 केवी हाईटेंशन विद्युत लाइन को स्थानांतरित नहीं कराया गया ग्रामीण जन रघु पटैल दीप्ति पटेल ब्रह्मानंद पटेल दीनदयाल पटेल बृजेश पटेल किशन लाल अनिल पटेल सत्यनारायण पटेल धर्मराज विश्ववकर्मा अजीत पटेल अभय पटेल राहुल पटेल मुकुंदी लाल बर्मन मारूलाल बर्मन ने बताया की पुल के ऊपर महज 8 फीट की ऊंचाई पर 11 केवी हाईटेंशन विघुत लाइन निकली है और पुल से आवागमन चालू कर दिया गया है अभी छोटे वाहन निकल रहे है अगर अनायास रात्रि में या कोई अनजान आदमी बड़ा वाहन लेकर यहां से गुजरा तो निश्चित रूप से 11 केवी हाईटेंशन लाइन के तेज करेंट से मौत के गाल में समा जावेगा इस और न तो पीडब्ल्यूडी विभाग का सेतु विभाग व संबंधित ठेकेदार विद्युत विभाग किसी अधिकारी ने ध्यान नही दिया कैथरा ग्राम के युवा रघुराज पटैल ने बताया की जब उन्होंने पुल के ऊपर से गुजरे हाईटेंशन बिघुत तार के संबंध में ठेकेदार से बात की तो ठेकेदार का कहना था की हमने पुल बनाने का ठेका लिया था जो हमने कर दिया वहीं विद्युत मंडल के आला अधिकारियों का कहना है की पुल बनाने वाली निर्माण एजेंसी को निर्माण के समय एवं पुल चालू करने के पहले 11 केवी लाइन एवं टांसफार्मर की शिफ्टिंग करानी थी पीडब्ल्यूडी के सेतु विभाग और विद्युत मंडल विभाग के बीच पत्रों का आदान प्रदान हो रहा है और यहां खुलेआम मौत को न्योता दिया जा रहा है
लोगों का कहना है की अगर जल्द से जल्द इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो निश्चित रूप से कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है

इन गांव के लोग करते है सफर.. 


ज्ञात हो की मुरैठ पुल चालू होने के कारण यह मार्ग इन्द्राना एवं मझौली को सीधा जोडने वाला मार्ग है इस मार्ग से लगभग दो दर्जन गांव के लोग जैसे गोसलपुर कछपुरा घोराकोनी किनगी मलहना आमी चनौटा खिन्नी कैथरा मढला उमरिया बटरंगी हथलेवा सुहजनी लमकना घाना बघेली बनखेड़ी के ग्रामीण जन इस पुल से आवागमन करते हैं और पुल के ऊपर से
गुजरी 11 केवी हाई टेंशन लाइन सिर के ऊपर से गुजरी है जो राहगीरों के रोंगटे खडे कर देती है यह लापरवाही कभी भी बडे हादसा का कारण बन सकती है


नही लगे सूचना बोर्ड

पुल निर्माता कंपनी द्वारा इतनी बड़ी लापरवाही बरते जाने के बावजूद भी पुल के दोनों और न तो कोई सांकेतिक बोर्ड लगाए गए न ही कोई सूचना प्रदर्शित की गई और न कोई बैरियर लगाए गए जिससे की बड़े वाहन पुल पर न जा पाये
सुरक्षा के किसी भी तरह के प्रतीकात्मक उपाय नहीं अपनाए गए और पुल से आवागमन प्रारंभ कर दिया गया

इनका कहना है 

आपके द्वारा मेरे संज्ञान में लाया गया है मुरैठ पुल में टीम को भेजकर जांच कराई जावेगी 11 केवी विद्युत लाईन को स्थानांतरित करने हेतु निर्देशित किया जावेगा
आशीष पांडेय
एसडीएम सिहोरा

पुल निर्माण एजेंसी को पुल निर्माण के पहले 11 केवी लाइन एवं ट्रांसफार्मर शिफ्टिंग कराने हेतु पत्र दिया गया था परंतु उन्होंने ऐसा नहीं किया इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है
राकेश कुमार सिन्हा
कनिष्ठ यंत्री गोसलपुर
Previous Post Next Post