वाइब्रेटर से खोद डाली सीसी सड़क, लोगों का गुजरना हुआ दुश्वार, कब मिलेगा पानी अता-पता नहीं

वाइब्रेटर से खोद डाली सीसी सड़क, लोगों का गुजरना हुआ दुश्वार, कब मिलेगा पानी अता-पता नहीं

नर्मदा पेयजल पाइप लाइन विस्तार का मामला : मनमानी पर उतारू ठेकेदार, आए दिन हादसे का शिकार हो रहे आमजन 

सिहोरा

नगर को पेयजल मुहैया कराने को लेकर नर्मदा जल की पाइप लाइन विस्तार का कार्य ठेकेदार द्वारा तो जोरों से किया जा रहा है, परंतु उसके मनमाने तरीके से कार्य करने से आम जनता को अनेक मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। दोपहिया वाहन तो दूर की बात रहवासियों का पैदल चलना भी दूभर है। जिसकी वजह से बारिश के चलते लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

हालात यह है कि नर्मदा जल की जल सप्लाइ के लिए नगर के अनेक वार्डों में इंडियन ज्यूम पाईप कंपनी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ठेकेदार द्वारा मनमाने तरीके से सीसी रोड को बीचोबीच बाइब्रेटर(ब्रेकर) से खोद कर छोड़ दिया गया है और अभी पाईप लाइन भी नहीं डाली गई है। सीसी रोड का खुदा हुआ मलवा रोड पर ही छोड़कर ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा आधा काम छोड़कर दूसरी जगह रोड खोदने का कार्य चालू कर दिया गया। पूर्व में खुदी सीसी रोड़ के तरफ देखने वाला कोई धनिधोरी नहीं है।


आए दिन हो रही दुर्घटनाएं

सिहोरा के अनेकों वार्डों में नर्मदा जल के लिए की गई सीसी रोड की खुदाई के बाद ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा कार्य अधूरा छोड़कर दूसरी जगह कार्य करने से मार्ग पर सीसी रोड का खुदा हुआ मलवा पड़े होने से आए दिन घटना दुर्घटना होना आम बात हो गई है, वहीं मार्ग से पैदल निकलना भी दूभर है।


बीच में काम छोड़कर दूसरी जगह चालू हो जाता है कार्य

वार्ड के निवासियों ने बताया कि वार्ड नं 11 में पानी टंकी के आसपास नर्मदा जल पाईप लाइन विस्तार के लिए ठेकेदार के द्वारा सीसी रोड के बीचोबीच ख़ुदाई का कार्य कराया जा रहा था, जिसे बीच मे छोड़कर कर्मचारियों द्वारा मलवा उसी स्थान पर छोड़कर दूसरी जगह कार्य करने चले गए और दुबारा देखने भी नहीं आये, सीसी रोड का मलवा पूरी सड़क पर फैल गया है, और मार्ग पर पैदल चलना भी मुश्किल है।


पूरी रोड पर फैल गया सीसी रोड का मलवा, जिम्मेदार अधिकारी मौन

पाईप लाइन विस्तार के लिए खोदी गई सीसी रोड का मलवा पूरी नगर के अनेकों मार्ग पर फैला पड़ा हुआ है, साथ ही बाइब्रेटर से खुदाई करने के कारण अनेक स्थानों पर रोड़ पर दरारें( क्रेक) तक पड़ गई है और देखने सुनने वाले जिम्मेदार अधिकारी मौन धारण किये बैठे है।


सड़के नगर पालिका की तो ध्यान देगा कौन?

पूरे मामले में समझने वाली बात यह है कि नर्मदा जल की पाइप लाइन विस्तार का कार्य वार्ड के निवासियों को जल उपलब्ध कराने तो किया जा रहा है, और ठेकेदार द्वारा कार्य पूरा करने के बाद नगर पालिका को ही अपने आधीन लेकर जल सप्लाई का कार्य कराना है और जो सड़कें धडल्ले से ठेकेदार द्वारा खोदी जा रही है वह भी नगर पालिका के द्वारा बनाई गई सड़के है और ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा मनमाने तरीके से नगर पालिका द्वारा बनवाई गई  सीसी रोड़ों को खोदने का कार्य करके मलवा कहाँ फेंका जा रहा है और कहाँ कितना खोदा जा रहा है, किस तरीके से खोदा जा रहा है, रोड में कितनी छति हुई और कितनी लीपापोती कर दी गई, इसको देखने वाला आखिर कौन है और भविष्य में भी उसका रखरखाव का कार्य किसको करना है आप जानते है तो अभी जिम्मेदार कहाँ है।

इनका कहना 

इस संबंध में मुझे शिकायतें मिली है। संबंधित कंपनी को नोटिस जारी किया जाएगा। साथ ही कंपनी के इंजीनियरों को हिदायत दी है कि एक जगह काम पूरा होने के बाद ही दूसरी जगह काम शुरू करें।

लक्ष्मण सिंह सारस , मुख्य नगर पालिका अधिकारी सिहोरा
Previous Post Next Post