Weenews : मस्तूरी विधायक ने उठाया कृषि विभाग के भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध लंबित कार्यवाही का मुद्दा

रायपुर । छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र में सोमवार को  चौथे दिन भाजपा विधायकों ने सदन में काम रोको प्रस्ताव लाकर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर चर्चा करवाने की मांग की। इसी के साथ सदन में  मस्तूरी विधायक डॉ कृष्णमूर्ति बाँधी ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र में किसानों के हित में कृषि विभाग के भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध लंबित कार्यवाही का मुद्दा विधानसभा में उठाया प्रश्नकाल के दौरान भाजपा विधायक डॉक्टर कृष्णमूर्ति बांधी ने कृषि विभाग में पदस्थ अधिकारियों के विरुद्ध जांच में हो रहे विलंब को लेकर कृषि मंत्री रविंद्र चौबे से प्रश्न किया
 जिसका जवाब देते हुए कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि EOW के 4 प्रकरण, विभागीय जांच के 12 और लोक आयोग के 10 प्रकरण हैं। इसपर बांधी ने सवाल किया कि जांच की अधिकतम समय सीमा क्या है? समय सीमा में जांच क्यों पूर्ण नहीं हुई? इसके जवाब में रविंद्र चौबे ने कहा कि इस मामले में विभाग के द्वारा 25 अधिकारियों पर कार्रवाई की गई है। इसके साथ ही कृषि मंत्री ने कहा कि अधिकारीयों की दो-दो वेतन वृद्धि भी रोकी गई है।। इसके अलावा कोयला चोरी से लेकर हत्या और अपराधिक घटनाओं पर सदन में भाजपा विधायकों ने सत्ता पक्ष पर जमकर हमला बोला। आसंदी ने विपक्षी विधायकों की मांग खारिज की, जिससे नाराज विधायकों ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया। विपक्ष की नारेबाजी के चलते सदन की कार्रवाई 5 मिनट के लिए स्थगित की गई।
Previous Post Next Post