गरीबों के आशियाने तोड़कर नहीं बनने देंगे न्यायालय का नया भवन

'गरीबों के आशियाने तोड़कर नहीं बनने देंगे न्यायालय का नया भवन'


सिहोरा न्यायालय के नए भवन के लिए दाना बाबा की पहाड़ी (पहरेवा) का अधिग्रहण : कांग्रेस पार्षद राजेश चौबे के नेतृत्व में पीड़ितों ने सौंपा एसडीएम को ज्ञापन

सिहोरा 

सिविल कोर्ट सिहोरा के नए भवन के लिए वार्ड क्रमांक दाना बाबा की पहाड़ी पहरेवा में जमीन अधिग्रहण में गरीब परिवारों के आशियाने की नाप-जोख को लेकर स्थानीय लोगों में भारी आक्रोश देखा जा रहा है। बुधवार को कांग्रेस पार्टी के नवनिर्वाचित वार्ड पार्षद राजेश चौबे के नेतृत्व में पीड़ित परिवारों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर साफ कहा गरीबों के आशियाने तोड़कर किसी भी कीमत पर न्यायालय का नया भवन नहीं बनने दिया जाएगा। प्रशासन को अगर नया भवन बनवाना है तो विस्थापित होने वाले परिवारों का पहले पुनर्वास कराया जाए।



 एसडीएम आशीष पांडे को सौंपा ज्ञापन में पार्षद राजेश चौबे ने बताया संबंधित जगह पर 15 गरीब परिवार वर्षों से रह रहे हैं। इसी बसाहट के बीच में दाना बाबा की पहाड़ी में स्थापित भगवान के दर्शन करने सैकड़ों लोग वर्षों से जा रहे हैं। यह स्थान बहुत पुराना है और लोगों की आस्था और विश्वास इससे जुड़ा है। इस स्थान पर जाने वाले रास्ते को लेकर  लगभग 15 मकानों को कोर्ट की स्थापना को लेकर चिन्हित किया गया। प्रशासन से अनुरोध है कि इसमें पुराने और प्राचीन स्थल और गरीबों के आशियाने बचाने के उद्देश्य से सिविल कोर्ट की जमीन को पहाड़ी की और नाल बढाकर पीछे पड़ी शासकीय भूमि को अधिग्रहित किया जाए। जिससे धार्मिक स्थल भी बचा रहेगा और गरीबों के आशियाने भी नहीं टूटेंगे। ज्ञापन सौंपते समय ब्लॉक कांग्रेस कमेटी सिहोरा के अध्यक्ष प्रवीण पाठक, पूर्व पार्षद गौस भाई आजाद, श्यामू हल्दकार, रत्नेश दहिया, ननका वर्मा, आजाद खान, नारायण सिंह, भूरा कोल, कमलेश तिवारी, आरती श्रीवास्तव के साथ बड़ी संख्या में पीड़ित परिवार के लोग शामिल रहे।
Previous Post Next Post