राहुल की कंटेनर यात्रा से देश जूड़ने वाला नहीं, 2023 में केन्द्र के साथ छ.ग. में बनेगी डबल इंजिन की भाजपा सरकार - पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल


बिलासपुर अपनों से अपनी बात फेस बुक कार्यक्रम में पूर्व मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को जन्मदिवस की पुनः शुभकामनाए देते हुए 2 अक्टूबर तक मनाये जा रहे सेवा सप्ताह पखवाड़े को लोक कल्याण के कार्य में सहभागिता का शुभअवसर बताया। उन्होंने कहा आत्मनिर्भर श्रेष्ठ भारत के निर्माण में मोदी जी की दूरदर्शिता से देश निरतंर प्रगति के पथ पर आगे बढ़ रहा है। अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन के बाद मेक्सिको के राष्ट्रपति ने यू.एन.ओ. की बैठक में वैश्विक शांति के लिए गठित समिति में यू.एन. के महासचिव, इटली के पोप और हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री मोदी जी का नाम प्रस्तावित किया है। पिछले दिनों एस.सी. ओ. की बैठक में सम्प्रभु राष्ट्र आज के समय में युद्ध की बजाय वैश्विक चुनौतियों का मिलकर सामना करने के मोदी जी के वक्तव्य का रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने हमारे प्रधानमंत्री जी की वैश्विक मान्यता पर मोहर लगा दी है। वह दिन दूर नहीं जब भारत सोने की चिड़िया के नाम से जाना जायेगा। श्री अग्रवाल ने कहा सहकारी आंदोलन को मोदी जी के कार्यकाल में नयी पहचान मिली है। 50 वर्षों बाद देश में पिछले दिनों विश्व डेयरी सम्मेलन का आयोजन किया है। 2 लाख गांव के 2 करोड़ किसान डेयरी फार्मिंग से लाभान्वित हो रहे हैं। जिसमें 74 प्रतिशत महिलाओं की भागीदारी है एवं 8.74 लाख करोड़ रूपये के व्यवसासिक उत्पादन मूल्य का लाभ डेयरी किसानों को मिल रहा है जो संबंधित राज्यों में गेंहू और चांवल उत्पादक किसानों से भी ज्यादा है। उन्होंने कहा 1 नवम्बर से धान खरीदी के पहले कांग्रेस की सरकार को बारदाने और खरीदी व्यवस्था के पुख्ता इंतेजाम कर लेनी चाहिए, ताकि केन्द्र पर आरोप मढ़ने का बहाना बनाने की जरूरत ना पड़ें। फेसबुक कार्यक्रम में श्री अमर अग्रवाल ने बस्तर की सुदुर अंचलों में हो रही अकारण मौतों पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के बीच जारी रस्साकसी से स्वास्थ्य विभाग को खाट पर लेटा हुआ करार दिया।

पूर्व मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने कहा 4 वर्षों में राज्य सरकार ने युवाओं को केवल ठगने का काम किया है। बेरोजगारी भत्ते का वादा किया किन्तु देने की बारी आई तो साफ मुकर गये। सी.एम.आई.ई. के हवाले से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल देश में शून्य से भी कम 0.4 प्रतिशत होने का दम भरते हैं पर प्रदेश की जनता यह जानना चाहती है कि बेकारी दर शून्य से कम होने के बाद भी 3 लाख आवेदन लोक सेवा आयोग के माध्यम से चपरासी भर्ती में कैसे आये एवं शिक्षक पात्रता भर्ती परीक्षा के लिए ही लगभग 5 लाख लोगों ने किस लिए परीक्षा दी। श्री अग्रवाल ने कहा आंकड़े बाजी मात्र से ही युवाओं का कल्याण नहीं होगा। भर्ती की संस्थाओं में कार्य प्रणाली में व्यापक सुधार की आवश्यकता है, लेकिन आलम यह है कि 2019 से लंबित 984 पदों की सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा, 2019 से ही 14,500 शिक्षक भर्ती आज भी पूरी नहीं हो पायी। श्री अग्रवाल ने कहा सरकार की नीति और कार्यशैली युवाओं में निराशा बढ़ रही है। रोजगार के अभाव में अनेक बड़ी संख्या में प्रतिभाओं का पलायन हो रहा है। युवाओं में नशाखोरी और अपराध बढ़ रहा है, भर्ती के बाद युवाओं को स्टाइपन वेतन दिया जा रहा है। राज्य की वित्तीय व्यवस्था के हवाले से सरकारी सेवा में भर्ती हुए राज्य के अफसर बने नए युवाओं के बिना कारण से परिवीक्षा अवधि 1 साल बढ़ानो वाला छ.ग. देश का पहला राज्य है, जहां युवाओं को यह सजा मिल रही है। चपरासी भर्ती करने वाला छ.ग. लोक सेवा आयोग देश का पहला राज्य है। श्री अग्रवाल ने कहा सामान्य वर्ग के छ.ग. के मूल निवासी शासकीय सेवक जो सेवा में रह कर निम्न पद से उच्च पद पर नियोजन के लिए भर्ती परिक्षा में शामिल होते हैं उनके भी उच्च आयु सीमा में कटौति कर छ.ग. सरकार ने मूल निवासी की छूट को खतम करके अवसर से वंचित कर रही है। कालेजों में अध्ययन सत्र शुरू होने के बाद आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम कालेजों की अचानक घोषणा लागू किये जाने से पूर्व से पढ़ रहे हजारों छात्र सड़कों पर आंदोलन के लिए मजबूर हो गये हैं। नवनिहालों की बुनियाद तैयार करने वाले छ.ग. के स्कुल शिक्ष विभाग को देश व्यापी परफारमेंस ग्रेडिंग इन्डेक्स में शिक्षा गुणवत्ता के मामले में पीछे से तीसरा स्थान मिलना सरकार की कार्यप्रणाली का वास्तविक चेहरा है।
श्री अग्रवाल ने कहा न्यायधानी की जनता बिगड़ती कानून व्यवस्था, ठप्प पड़े विकास कार्य और भू-माफियाओं से त्रस्त है, बिजली के आंख मिचौली जीरो पावर कट वाले बिजी सरप्लस स्टेट में आम बात हो गयी है। 25,000 से अधिक स्ट्रीट लाईट शहर के विभिन्न ईलाकों में लगे होने के बावजूद निगम प्रशासन और ठेका कंपनी के अनदेखी से सड़कों में अंधेरा छाये रहता है। कांग्रेस के लोगों को भाजपा से विकास कार्यों का हिसाब पूछने वाले कांग्रेस के प्रतिनिधियों को श्री अग्रवाल ने चेताया है कि राहूल गांधी की कंटेनर यात्रा से देश जूड़ने वाला नहीं है, कांग्रेस जाती हुई पार्टी है, आने वाले दिसम्बर 2023 में केन्द्र के साथ छ.ग. राज्य में डबल इंजिन के सरकार बनाने का प्रदेश की जनता ने मन बना लिया है। देश व्यापी सुपड़ा साफ होने के साथ छ.ग. में भी कांग्रेस का सुपड़ा साफ होना तय है।
Previous Post Next Post