किसान को अधिक कीमत पर बेची जा रही थी यूरिया, साथ में जिंक सल्फेट लेना अनिवार्य

किसान को अधिक कीमत पर बेची जा रही थी यूरिया, साथ में जिंक सल्फेट लेना अनिवार्य


सिहोरा के गुप्ता कृषि केंद्र का मामला : किसान की लिखित शिकायत पर एसडीओ कृषि पहुंची दुकान यूरिया कालिया सैंपल, संचालक को कारण बताओ

सिहोरा 

किसानों को इस समय यूरिया की सबसे ज्यादा आवश्यकता धान के लिए है, लेकिन यूरिया की उपलब्धता नहीं होने से किसानों को निजी दुकानदारों से यूरिया खरीदनी पड़ रही है। सिहोरा में स्थित एक कृषि केंद्र के संचालक द्वारा यूरिया खाद अधिक कीमत पर देने की बात कही साथ में जिंक सल्फेट लेना भी जरूरी बताया। किसान ने इस मामले की लिखित शिकायत अनुविभागीय अधिकारी सिहोरा से की। शिकायत पर कृषि विभाग का मामला संबंधित कृषि केंद्र पहुंचकर संचालक को नोटिस जारी किया है। नोटिस का जवाब संतोष पूर्ण नहीं होने पर उर्वरक का लाइसेंस निरस्त किए जाने की कार्रवाई की बात कही।



अनुविभागीय अधिकारी कृषि सिहोरा मनीषा पटेल ने बताया कि कृषक प्रमोद सिंह वार्ड क्रमांक 7 ने सोमवार को लिखित शिकायत दी थी। जिसमें गुप्ता कृषि केंद्र सिहोरा द्वारा यूरिया खाद अधिक कीमत पर देने और साथ में जिंक सल्फेट लेना अनिवार्य बताया था। शिकायत पर वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी जीएस राठौर के साथ गुप्ता कृषि केंद्र का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान स्टॉक पंजी, बिल बुक देखी एवं डीएपी खाद का सैंपल लिया गया। भौतिक रूप से यूरिया खाद का स्टाक निरंक पाया गया। जांच के उपरांत प्रोपराइटर को अधिक दर पर यूरिया बेचने की शिकायत पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। जवाब संतोषजनक नहीं पाए जाने पर संबंधित का उर्वरक लाइसेंस निरस्त किए जाने की कार्रवाई की जाएगी।

किसान तत्काल करें शिकायत तय रेट से अधिक उर्वरक बेचे जाने की

कृषि विभाग के अधिकारियों ने सभी किसानों से अनुरोध किया है की दुकानदार यदि निर्धारित दर से अधिक रेट पर उर्वरक बेचते हैं तो तत्काल इसकी लिखित शिकायत कृषि विभाग को करें। जिस से संबंधित दुकान संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जा सके।
Previous Post Next Post