जन्मदिन पर जश्न की जगह प्रदर्शन, पूर्व मंत्री अमर ने नगर विकास और बिगड़ती कानून व्यवस्था पर नेहरू चौक बोला हल्ला


बिलासपुर। पूर्व मंत्री एवं पूर्व नगर विधायक भाजपा के कद्दावर नेता अमर अग्रवाल ने आज अपना जन्मदिन नहीं मनाया लेकिन नगर विकास और कानून व्यवस्था की मांग को लेकर नेहरू चौक बिलासपुर में धरना प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि जब मेरे नगर की जनता यहॉ की कानून व्यवस्था, विकास कार्यो की अनदेखी को लेकर दुखी है, तब मैं कैसे उत्साह पूर्वक अपना जन्मदिन मनाता।


इस अवसर पर नेहरू चौक में आयोजित धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि विगत चार वर्षो के कांग्रेस राज के कुशासन में शहर का विकास ठप हो गया है। सड़कों की भारी दुर्दशा है पुराने विकास कार्य भी अधूरे पड़े है। कानून व्यवस्था पूरी तरह लड़खड़ा गई है। चारो तरफ अराजकता का माहौल है, नगर के लोग अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे है। चाकुबाजी, मारपीट, लूट, हत्या की घटनाओं ने शहर को झकझोर कर रख दिया है। सूदखोरो की वजह से एक इंजीनियर युवक को आत्महत्या करनी पड़ी, वहीं तालापारा में एक युवक की हत्या हुई थी जिसके आरोपियों को पकड़ने में पुलिस के हाथ कांपते है। पुलिस को कही न कही से समर्थन मिल रहा है इस वजह से हत्या के आरोपी नहीं पकड़े जा सके। सफेद पोश लोग नेता बन कर घुम रहे है, इनसे पुलिस क्यों डरती है। इन्हें अपने तबादले का भय रहता है इसकी चिंता वे न करे। उन्होंने कहा कि खबरे मिलती है कि गुंडो की लिस्ट बन रही है, लेकिन गुंडे तो शहर में खुले आम घुम रहे है। शहर और प्रशासन के सभी लोगों को मालूम है फिर भी पुलिस कार्रवाई नहीं करती। शहर में शराब, ड्रग माफिया कोकीन आदि नशीले पदार्थो जुआ सट्टा का अवैध कारोबार खुले आम चल रहा है। उन्होंने प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार बेरोजगारी विकास कार्य ठप होने बिगड़ती कानून व्यवस्था, नशे का बढ़ता कारोबार, गुंडागर्दी भू माफियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यह सरकार बस एक वर्ष की और मेहमान है। आम जनता इस सरकार से त्रस्त हो चुकी है और आगामी विधानसभा चुनाव में इसे उखाड़ फेकेगी। उन्होंने उन कांग्रेसी नेताओं को बाज आने की चेतावनी देते हुए कहा कि अपराधियों को संरक्षा देने वाले ऐसे नेताओं की फाइल जनवरी 2024 को खुलेगी और किसी को बख्शा नहीं जायेगा।
उन्होंने कहा कि जब तक शहर का वैभव नहीं लौटता, तब तक इन कांग्रेस नेताओं और उनके घरों का घेराव करें। चार वर्षो के दौरान इन्होंने शहर के विकास कार्यो के नींव में एक भी ईट नहीं रखी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना, अमृत मिशन, सीवरेज कौशल विकास योजना, शुद्ध जल आपूर्ति, स्ट्रीट लाइट, सड़क निर्माण, नाली निर्माण, उद्यानों का उन्नयन, तालाबों का सौंदर्यीकरण जैसे सभी कार्य पैसो के अभाव में रूके हुए है। सरकारी संरक्षण में नजूल जमीनों को भूमाफियाओं को बेचा जा रहा है। जिससे नजूल भूमि पर बने मकान व दुकानदार लोग भयभीत है। भूखंडो की रजिस्ट्री, नामांतरण बटांकन रिकार्ड दुरूस्ती जैसे कार्य बना मोटी रकम लिए नहीं किए जा रहे है।
धरना प्रदर्शन के पश्चात एक रैली के शक्ल में उनका यह काफिला कलेक्टोरेट गया। जहॉ कलेक्टर सौरभ कुमार से मिलकर उन्हें इस आशय का एक ज्ञापन सौंप कर इस दिशा में आवश्यक कार्यवाई करने की अपील की।
धरने का संचालन भाजपा जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत ने किया। धरने में भाजपा जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत, किशोर राय, गुलशन ऋषि, अशोक विधानी, मनीष अग्रवाल, प्रवीण दुबे, महेश चंद्रिकापुरे, विजय ताम्रकार, विनोद सोनी, अमरजीत दुआ, बंधु मौर्य, रवि गोयल, पूजा विधानी, विभा राव, चंदु मिश्रा, अजीत सिंह भोगल, अरविंद बोलर, निम्मा जीवनानी, जुगल अग्रवाल, संदीप दास, जयश्री चौकसे, सैय्यद मकबूल अली, विजय सिंह, दीपक सिंह, निखिल केशरवानी, रोहित मिश्रा, नवीन उभरानी, दुर्गेश पाण्डेय, राकेश मिश्रा योगेश बोले, रंगा नादम, सतीश गुप्ता, मनोज मिश्रा, रोशन सिंह, महर्षि बाजपेयी, मोनू रजक, मुकेश राव, आशीष तिवारी, वैभव गुप्ता, युसूफ रजा बरकाती, चंदना गोस्वामी, रजनी यादव, शोभा कश्यप, कंचन दुसेजा, संध्या चौधरी, शाहिल भाभा, शाहिल कश्यप, शेखर पाल, उदय मजूमदार, बंटी यादव, हरि गुरूंग, अभिजीत मित्रा, वल्लभ राव, लाला भाभा सहित भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
Previous Post Next Post