अप्रशिक्षित लोग चला रहे दवाई दुकान, औषधि अमला मौन

अप्रशिक्षित लोग चला रहे दवाई दुकान, औषधि अमला मौन


दवा दुकानों की जांच की मांग 


सिहोरा 

जिले की सबसे बड़ी कहे जाने वाली सिहोरा तहसील के अंतर्गत शहर व ग्रामीण क्षेत्र जैसे गोसलपुर गांधीग्राम रमखिरिया मझंगवा में संचालित दवाई की दुकानों में अधिकांश दवा दुकान बिना फार्मासिस्ट के दवाइयों का व्यापार चल रहा हैं। जिले के औषधि विभाग द्वारा किसी भी तरह की जांच नही की जाती।
जिला प्रशासन मुस्तेदी से कार्यवाही शुरू करे तो लगभग तहसील की 90 प्रतिशत दवा दुकानों पर अधिकृत फार्मासिस्ट विहीन मिलेगी।

 लोगो का आरोप है की अधिकांश दुकानें ड्रग इंस्पेक्टर की कृपा दृष्टि से चल रही है। जिले का औषधि अमला दिखावे के लिए निरीक्षण व कार्यवाही की रस्म अदायगी कर इतिश्री कर लेता है। लोगों का कहना है की दवाइयां इंसान के जीवन से जुड़ी है जीवन रक्षक दवाइयां है। परंतु दवाई दुकानों में अप्रशिक्षित लोगों  के द्वारा दुकानों का संचालन किया जा रहा है जिससे कभी भी लोगों के जीवन से खिलवाड़ हो सकता है। ग्रामीण जनों का कहना है की लाइसेंस में नाम किसी का रहता है और दवाई दुकान का संचालन कोई और करता है यह लापरवाही कहीं लोगों की जान न ले ले ग्राम के प्रबुद्ध जनों ने इस और जिला प्रशासन से ध्यान देने की मांग की है।
Previous Post Next Post
Wee News