आजाद स्कूल अतिथि शिक्षक संघ मध्य प्रदेश के मार्गदर्शन में जबलपुर जिला इकाई मध्यप्रदेश अतिथि शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री व स्कूल शिक्षा मंत्री के नाम सी एस.पी.को सौंपा ज्ञापन

आजाद स्कूल अतिथि शिक्षक संघ मध्य प्रदेश के मार्गदर्शन में जबलपुर जिला इकाई मध्यप्रदेश अतिथि शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री व स्कूल शिक्षा मंत्री के नाम सी एस.पी.को सौंपा ज्ञापन


सिहोरा

  4 सितंबर बारिश की बूंदों के बीच जिले भर के अतिथि शिक्षकों ने जिनमें महिला अतिथि शिक्षक सहित बड़ी संख्या में तिरंगा रैली का आयोजन किया। हाथों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा थामे मध्यप्रदेश शासन और सरकार से न्याय की गुहार लगाते हुए जिले के अतिथि शिक्षक लामबंद हुए सिविक सेंटर पार्क मैं बैठक संपन्न करने के पश्चात वंदे मातरम चौक तक विशाल रैली निकालकर सरकार के द्वारा किए जा रहे अतिथि शिक्षकों पर अत्याचार और अन्याय के खिलाफ प्रदर्शन किया। 


पुलिस प्रशासन की सुरक्षा के बीच सभी अतिथि शिक्षकों ने एक स्वर में मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग से मांग की है कि मध्य प्रदेश के पड़ोसी राज्यों व देश के अनेक राज्यों की भांति अतिथि शिक्षकों का भविष्य सुरक्षित करें अतिथि शिक्षक के पद पर नई भर्ती,पदोन्नति व स्थानांतरण से किसी को नियुक्ति ना दी जाए वहीं  12 माह 62 वर्ष तब कार्यकाल निश्चित कर मुख्यमंत्री के कथन अनुसार विभागीय परीक्षा लेकर अतिथि शिक्षकों को नियमित किया जाए अतिथि शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने बताया कि अभी सरकार हमारी मांग नहीं मानती तो आगामी दिनों में राजधानी भोपाल में सीएम हाउस का घेराव कर आमरण अनशन किया जाएगा। सरकारी शिक्षकों को केंद्र के समान समान कार्य समान वेतन की मांग को सरकार पूरा करती जा रही है लेकिन अतिथि शिक्षकों से शासकीय शिक्षकों के बराबर समान कार्य समान वेतन देने के बजाय बेहद अल्प मानदेय मजदूरों से कम दिया जा रहा है जिससे शिक्षक जैसे सम्मानीय पद का अपमान हो रहा है। अतः शिक्षक संघ ने निर्णय किया है 5 सितंबर शिक्षक दिवस को अतिथि शिक्षकों द्वारा शिक्षक दिवस नहीं मनाया जाएगा सभी अतिथि शिक्षक विद्यालयों का बहिष्कार करेंगे। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष के साथ प्रवीण शुक्ला लोकेश मिश्रा अंजना साहू कीर्ति यादव सुलभ मिश्रा राकेश यादव राहुल मिश्रा विमल किशोर यादव सुजीत पटेल शुभांग नायक हेमलता यादव संतोष हल्दकार सचिन नामदेव मनोज यादव नरेश बर्मन एल.पी.पटेल अजय दीपांकर प्रवीण साहू आदि बड़ी संख्या में अतिथि शिक्षक सम्मिलित हुए।
Previous Post Next Post