यूरिया घोटाले माफिया को किसका संरक्षण

यूरिया घोटाले माफिया को किसका संरक्षण


 आरोपी को गिरफ्तार कर सम्पत्ति से वसूली जाये राशि
 घोटाले का आरोपी कब होगा गिरफ्तार? 

यूरिया माफिया को गिरफ्तार करने के लिए लगाई मुख्यमंत्री से गुहार अंतरराज्यीय यूरिया माफिया को प्रशासन का संरक्षण!

  सिहोरा

म.प्र. तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ ने जारी विज्ञप्ति में बताया कि जबलपुर में उजागर हुए यूरिया महा घोटाला का पता चला है कि अन्नदाता किसान के हिस्से का 1 हजार 20 टन यूरिया जो सरकारी संस्थानों को जाना था, उसे गायब करते हुए प्राईवेट ऐजेन्सी को बेच दिया गया है। उक्त यूरिया घोटाला करने वाले मुख्य आरोपी डी.पी.एम.के. जबलपुर के मालिक एवं ट्रांसपोर्टर द्वारका गुप्ता को प्रशासन एवं जांच ऐजेन्सी द्वारा बचाने का प्रयास करते हुए गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है। घोटाला हुए 10 दिन व्यतीत हो चुके हैं किन्तु मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी न होने से संदेह उत्पन्न हो रहा है। यदि उसे समय रहते गिरफतार नहीं किया जाता है है तो वह सबूतों के साथ छेडछाड कर बचने का प्रयास कर सकता है।
  संघ के योगेन्द्र दुबे, अटल उपाध्याय, मुकेश सिंह, मंसूर बेग, आलोक अग्निहोत्री योगेन्द्र मिश्रा आदि ने माननीय मुख्यमंत्री म.प्र.शासन से ई-मेल के माध्यम से शिकायती पत्र भेजकर मांग की है कि यूरिया घोटाले के मुख्य आरोपी को तत्काल गिरफ्तार किया जावे अन्यथा की स्थिति में संघ धरना आन्दोलन हेतु वाध्य होगा जिसका संपूर्ण उत्तरदायित्व प्रशासन का होगा।
Previous Post Next Post