बेमौसम बारिश-आंधी से खराब हो गई धान और मटर की फसल

बेमौसम बारिश-आंधी से खराब हो गई धान और मटर की फसल


तत्काल हो सर्वे अन्नदाता को दिया जाए मुआवजा : अखिल भारतीय ओबीसी महासभा ने कलेक्टर के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

सिहोरा 

बीते तीन दिनों के दौरान हुई बेमौसम बारिश आंधी-तूफान के कारण सिहोरा और मझौली ब्लाक में खेतों में खड़ी धान और मटर की फसल खराब हो गई है। कर्ज से परेशान अन्नदाता पहले ही परेशान था ऊपर से प्रकृति की मार से जूझने के लिए मजबूर है। शासन और प्रशासन तत्काल खराब हुई धान और मटर की फसल का सर्वे कराए और पीड़ित किसानों को मुआवजा दे। यह बात ओबीसी महासभा के पदाधिकारियों ने गुरुवार को पांच सूत्री मांगों को लेकर कलेक्टर के नाम से हुए एसडीएम को ज्ञापन सौंपते हुए कही। सात दिवस के अंदर शासन और प्रशासन खराब हुई धान और मटर की फसल का सर्वे कराएं अन्यथा संगठन इसको लेकर उग्र आंदोलन करेगा जिसकी सारी जवाबदारी शासन और प्रशासन की होगा। ज्ञापन सौंपते समय किसान समाज संगठन के दीवान जितेंद्र, अखिलेश शारदानंद, आनंद पटेल, विश्वेश्वर पटेल, शीतल काछी, अमित, आशीष, रोहित एवं संयुक्त रूप से पाटन और सिहोरा विधानसभा के किसान शामिल रहे।

ओबीसी महासभा के जिला अध्यक्ष, किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष रामराज पटेल, विधानसभा अध्यक्ष दिलीप पटेल, ब्लॉक अध्यक्ष जितेंद्र पटेल ने बताया कि घरेलू बिजली उपभोक्ताओं से लोड के नाम पर अंधाधुंध बिजली बिल की वसूली हो रही है जिस पर तत्काल रोक लगाई जाए। साथ ही अघोषित बिजली कटौती बंद हो। धान खरीदी के पंजीयन में गिरदावरी सही तरीके से नहीं होने के कारण एक किसान की जमीन दूसरे किसान के नाम पर शो हो रही है, इसमें तत्काल सुधार किया जाए। ओबीसी जातिगत जनगणना करा कर जाति के अनुसार जाति के अनुपात के आधार पर आरक्षण दिया जाए।
Previous Post Next Post