असली तो नहीं पहुंची, फर्जी टीम ने दिखाया अपना कमाल

"असली" तो नहीं पहुंची, "फर्जी" टीम ने दिखाया अपना कमाल


चार पहिया वाहन के साथ सिहोरा की कई दुकान पहुंचे, एक दुकान से लिए सैंपल मिठाई के सैंपल

जिम्मेदार अधिकारियों को भी नहीं लगी कानो कान खबर


सिहोरा

दीपावली के त्यौहार में सिर्फ चार दिन रह गए हैं। मिठाई की दुकानों में मिठाईयां बनकर तैयार हैं। मिलावटी खोवे से बनने वाली मिठाइयों की जांच एवं सैंपल के लिए खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम भी बन गई है। सिहोरा में गुरुवार को ऐसी ही एक टीम मिठाई की दुकानों में जांच के लिए पहुंची। टीम के सदस्यों ने एक दुकान से मिठाई के सैंपल भी लिए, लेकिन उच्च अधिकारियों से जानकारी लेने पर पता चला की खाद्य एवं औषधि विभाग की कोई टीम शहर में आई ही नहीं है। मतलब साफ है कि दिवाली का खर्चा निकाल ले एक टीम शहर में सक्रिय होकर पहुंचती है। लेकिन वह पूरी तरह फर्जी है।


ये है मामला

नकली खोवे से बनी मिठाईयों की जांच के लिए चार पहिया वाहन से दो अधेड़ व्यक्ति और एक बंदूकधारी शहर की एक मिठाई दुकान में पहुंचते हैं। अधेड़ उम्र के दोनों व्यक्ति दुकानदार से पूछते हैं कि तुम्हारी दुकान में कौन-कौन सी मिठाइयां है। दुकानदार संबंधित दोनों व्यक्तियों से उनका परिचय पूछता है। दोनों व्यक्ति दुकानदार को खाद्य एवं औषधि विभाग के अधिकारी बताते हैं। दोनों मिठाई दुकान से करीब ढाई सौ ग्राम मिठाई का सैंपल जांच के लिए साथ में ले जाते हैं। इसके बाद तीनों लोग शहर की एक और मिठाई दुकान में पहुंचते हैं। वहां भी दुकानदार से सैंपल मांगते हैं और कुछ लेनदेन की बात होती है लेकिन दुकानदार के होशियार रहने से उनकी दाल नहीं गलती। दुकान में सीसीटीवी कैमरा देखते ही तीनो लोग वहां से चंपत हो जाते हैं।


असली और नकली टीम को कैसे पहचाने दुकानदार ?

मिठाई दुकानदारों के सामने सबसे बड़ी परेशानी  दुकान में पहुंचकर सैंपल लेने वाली टीम असली है या नकली की पहचान की है। खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम जबलपुर से बनती है। खाद्य एवं औषधि विभाग के पुराने अधिकारियों का ट्रांसफर हो चुका है। 

शहर के अधिकारियों को नहीं लगी कानो कान खबर

खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम के नाम पर फर्जी लोगों के शहर की मिठाई दुकान में पहुंचकर सैंपल लेने और कई दुकानदारों से वसूली कानो कान खबर शहर के वरिष्ठ अधिकारियों को नहीं लगी। उनका तो यही कहना था कि शहर में मिठाई दुकानों की जांच और सैंपल के लिए शहर से कोई भी टीम नहीं आई है।


इनका कहना

खाद्य एवं औषधि विभाग की कोई भी टीम सिहोरा एवं खितौला में मिठाई दुकानों की जांच और सैंपल के लिए नहीं पहुंची। मिठाई दुकानों में जांच और सैंपल के लिए जो भी व्यक्ति पहुंचे हैं वह फर्जी है।

आशीष पांडे, एसडीएम सिहोरा
Previous Post Next Post