सीएचओ की कार्यशैली से ग्रामीण जन परेशान : मामला जुझारी उप स्वास्थ्य केंद्र का, कलेक्टर को सौंपी शिकायत

सीएचओ की कार्यशैली से ग्रामीण जन परेशान : मामला जुझारी उप स्वास्थ्य केंद्र का, कलेक्टर को सौंपी शिकायत


सिहोरा 

सिहोरा विकासखंड के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गोसलपुर के तहत संचालित उप स्वास्थ्य केंद्र जुझारी (आरोग्य केंद्र) में पदस्थ सीएचओ की कार्यशैली से जहां एक ओर आम जनमानस बेतहाशा परेशान है, वही मरीज इलाज पाने के लिए भटकते रहते हैं। लोगों का कहना है की संस्था में हमेशा ताला लटका रहता है। समय पर संस्था नहीं खुलती जिससे गर्भवती महिलाओं व बच्चों अन्य स्वास्थ्य संबंधी टीकाकरण व अनेक बीमारियों पर रोकथाम के प्रयास असफल होते दिख रहे हैं। 

ग्राम के लोगो ने बताया की गांव मे पदस्थ उक्त सीएचओ की लापरवाह कार्यप्रणाली की शिकायत संबंधित स्वास्थ्य अधिकारियों से मौखिक की गई परंतु सीएचओ के व्यवहार में किसी भी प्रकार का कोई बदलाव नहीं आया। लोगों का कहना है की संस्था पहुंचने वाले मरीजों महिलाओं बच्चों से सीएचओ का व्यवहार अच्छा नहीं रहता शासन के द्वारा चलाए जा रहे अभियान की रफ्तार भी धीमी पड़ी हुई है।
जिस कारण लोग स्वास्थ्य सुविधा पाने से वंचित रह
जिला कलेक्टर को लिखित शिकायत सौंप कर जांच की मांग की गयी है। 

इस उद्देश्य की गई थी सीएचओ की नियुक्ति

ज्ञात हो की संपूर्ण प्रदेश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के द्वारा नर्स, स्वास्थ्य कार्यकर्ता डॉ.के बीच हेल्थ वर्कर के रूप में समन्वय के रूप में कार्य करने के लिए सीएचओ की नियुक्ति  इस उद्देश्य से की गई थी, ताकि इनके द्वारा बच्चों की देखभाल बच्चों की छोटी मोटी बीमारियों पर नियंत्रण, चिकित्सा क्षेत्र में बेहतर काम करना, इलाज के दौरान सभी मरीजों से पूछताछ करना, उनका डेटा एकत्र करना, मरीजों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना, मरीजों के घरों के आसपास स्वच्छता की जांच करना और साफ-सफाई को बढ़ावा देना जैसे उद्देश्यों को लेकर की गई थी। 


कलेक्टर से कार्यवाई की मांग

परंतु सिहोरा विकासखंड के अंतर्गत नियुक्त अनेक सीएचओ अपने मुख्यालय से गायब रहती हैं और इनकी कार्य शैली एवं कार्य प्रणाली से आम जनमानस परेशान है। लोगों ने इस दिशा में जिला कलेक्टर एवं जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी से उचित कार्यवाही की मांग की है।
Previous Post Next Post