सरकार की आमद मरहबा, मेरे सरकार आए हैं

'सरकार की आमद मरहबा, मेरे सरकार आए हैं'


जश्ने ईद मिलादुन्नबी : आजाद चौक से शुरू हुआ जुलूस-ए-मोहम्मदी, जमकर हुई आतिशबाजी, बस स्टैंड सहित जगह-जगह तकसीम हुआ लंगर

सिहोरा

पैगंबर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद सल्ललाहो अलैव वसल्लम की यौमे पैदाईश के मौके पर सिहोरा में रविवार को जश्न का माहौल रहा। सिहोरा और खितौला में भव्य जुलूस निकाला गया। दो साल से कोरोना संक्रमण के कारण त्यौहार सीमित तौर पर मनाया जा रहा था, लेकिन इस बाद जबरदस्त भीड़ उमड़ी। 'सरकार की आमद मरहबा'की गूंज के साथ जश्ने ईद मिलादुन्नबी के जुलूस में खासी भीड़ रही। मुस्लिम समाज के लोग हाथों में झंडे लिए नाअत और दुरूद शरीफ पढ़ते हुए चले। जगह जगह जुलूस का स्वागत भी किया गया।


जश्ने ईद मिलादुन्नबी के मौके पर सिहोरा में सुबह मुस्लिम धर्मावलंबियों द्वारा वाहन रैली निकाली गई। वाहन रैली में बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग शामिल रहे। शाम पांच बजे आजाद चौक से जुलूस-ए-मोहम्मदी की शुरुआत आजाद चौक से हुई। जुलूस-ए-मोहम्मदी कटरा मोहल्ला, झंडा बाजार, काल भैरव चौक, सरावगी मोहल्ला, मैना कुआं, बाबाताल, सिविल कोर्ट होते हुए पुराना बस स्टैंड पहुंचा।

हिंदू भाइयों और एएसपी (ग्रामीण) को लगाया गुलाब का फूल

जश्ने ईद मिलादुन्नबी के मौके पर निकले जुलूस-ए-मोहम्मदी में मुस्लिम समाज के लोगों ने नगर के व्यापारी वर्ग हिंदू भाइयों के साथ साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शिवेश सिंह बघेल, सहित पुलिसकर्मियों को गुलाब का फूल लगाकर जश्ने ईद मिलादुन्नबी की मुबारकबाद देकर सिहोरा की गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश की।

जगह-जगह तक्सीम हुआ लंगर, जमकर हुई आतिशबाजी

जश्ने ईद मिलादुन्नबी के मौके पर जुलूस-ए -मोहम्मदी के बस स्टैंड पहुंचने पर मुस्लिम समाज के लोगों ने जमकर आतिशबाजी की। साथ ही अलग-अलग कमेटियों के लोगों ने जुलूस में शामिल और ऐसे देखने आने वाले लोगों को लंगर तकसीम किया। बस स्टैंड के बाद जुलूस-ए-मोहम्मदी गौरी तिराहा होते हुए आजाद चौक पर समाप्त हुआ।
Previous Post Next Post