जिलाध्यक्ष के जिला से बाहर स्थानांतरण से शिक्षकों में आक्रोश,सोमवार से विरोध प्रदर्शन की होगी शुरुआत

जिलाध्यक्ष के जिला से बाहर स्थानांतरण से शिक्षकों में आक्रोश,सोमवार से विरोध प्रदर्शन की होगी शुरुआत
सिहोरा के बाबाताल मंदिर में शिक्षकों ने की बैठक



सिहोरा

 सिहोरा निवासी शिक्षक और राज्य शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष नरेन्द्र त्रिपाठी के जबलपुर से छिंदवाड़ा स्थानांतरण से शिक्षकों में खासा आक्रोश है।रविवार शाम 7 बजे सिहोरा में रहने वाले शिक्षकों ने बाबाताल मंदिर में बैठक बुलाई।बैठक में एक स्वर में जिलाध्यक्ष नरेन्द्र त्रिपाठी के जिलाबदर स्थानांतरण की कटु निंदा हुई।

स्थानांतरण निरस्त होने तक चरणबद्ध प्रदर्शन

 शिक्षकों ने निर्णय लिया कि कल से ही वे विद्यालयों में काली पट्टी बांध शैक्षणिक कार्य करेंगे।मंगलवार को पूरे सिहोरा के शिक्षक एकत्र हो सिहोरा,मझौली और बहोरीबंद विधायक,SDM सिहोरा को स्थानांतरण निरस्त कराने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपेंगे।इसके बाद प्रत्येक शिक्षक माननीय मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री के नाम पोस्टकार्ड लिखेगा जिसमे शिक्षकों के प्रशासनिक स्थानांतरण की प्रक्रिया की निंदा और हुए स्थानांतरण को निरस्त करने की बात होगी।

प्रशासनिक स्थानांतरण का मापदंड तय करे सरकार

शिक्षकों ने मांग की कि सरकार शिक्षकों के प्रशासनिक स्थानांतरण का मापदंड तय करे।आज तक जितने भी प्रशासनिक स्थानांतरण किये गए उनमें से एक भी स्थानांतरण शिक्षक की शैक्षणिक कमियों को आधार बना नही किया गया।यदि किसी शिक्षक ने किसी नेता को कुर्सी नही दी तो स्थानांतरण, जनप्रतिनिधियों को नमस्कार न हुआ तो स्थानांतरण, चंदा न दिया तो स्थानांतरण, नेता के समर्थकों की नजर में कमी दिखी तो भी स्थानांतरण।ये सब बिल्कुल भी न्यायसंगत नही है।इस बात का विरोध अब प्रदेश भर में कैसे हो इसकी रणनीति भी बैठक में तय की गयी।बैठक में अनेक विकासखंडों के सिहोरा में निवास करने वाले शिक्षक मौजूद रहे।
Previous Post Next Post