संवाद की गुणवत्ता के लिए अच्छी भाषा का ज्ञान आवश्यक : प्राचार्य डॉ संतोष जाटव

संवाद की गुणवत्ता के लिए अच्छी भाषा का ज्ञान आवश्यक : प्राचार्य डॉ संतोष जाटव


विद्यार्थियों की भाषा परिष्कृत करने शासकीय श्याम सुंदर अग्रवाल स्नातकोत्तर महाविद्यालय में "सु-भाष" क्लब का गठन

सिहोरा 

शासकीय श्याम सुंदर अग्रवाल महाविद्यालय, सिहोरा के आंतरिक गुणवत्ता प्रकोष्ठ की पहल पर महाविद्यालय में "सु-भाष" क्लब का गठन किया गया है। इस क्लब के गठन का उद्देश्य विद्यार्थियों की भाषा को परिष्कृत करना है। क्लब की गतिविधियों में विद्यार्थियों के हिंदी और अंग्रेजी भाषा के लेखन और शब्दों के उच्चारण में सुधार करने के लिए निरंतर कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। क्लब के उद्देश्यों में भाषा लेखन में सुधार करना, वर्तनी की अशुद्धियों में सुधार करना, उच्चारण की त्रुटियों को परिष्कृत करना, संवाद कौशल की योग्यता विकसित करना और लेखन कौशल विकसित करना है।


"सु-भाष क्लब " का उद्घाटन करते हुए प्राचार्य डॉ श्रीमती संतोष जाटव ने कहा कि भाषा का सौदर्यीकरण आज के युग की आवश्यकता है। संवाद की गुणवत्ता के लिए अच्छी भाषा का ज्ञान आवश्यक है। आशा है कि यह क्लब विद्यार्थियों को भाषा का परिष्कार करेगा और इसके माध्यम से विद्यार्थियों के व्यक्तित्व में निखार आएगा।क्लब के संयोजक हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष  प्रो श्रीकृष्ण तिवारी ने कहा कि आपकी भाषा ही आपके व्यक्त्वि का आईना है। आपके द्वारा बोले गए शब्द ही आपके काम बना या बिगाड़ सकते हैं। इसलिए भाषा का महत्व हमारे जीवन और जीविका दोनों के लिए है। उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रो सुनु मैथ्यू ने उच्चारण की महत्ता को प्रतिपादित किया। कार्यक्रम का संचालन आंतरिक गुणवत्ता आश्वस्ति प्रकोष्ठ के संयोजक प्रो मनोज श्रीवास्तव ने किया। आभार प्रदर्शन  कुणाल वर्मा ने किया।
Previous Post Next Post