नेशनल हाईवे की पुलिया के नीचे मोटरसाइकिल सहित पानी में डूबी मिली युवक की लाश सिहोरा थाना क्षेत्र का मामला

नेशनल हाईवे की पुलिया के नीचे मोटरसाइकिल सहित पानी में डूबी मिली युवक की लाश




सिहोरा थाना क्षेत्र का मामला : हत्या या हादसा पुलिस मामले की जांच में जुटी


परिजनों का आरोप साजिश के तहत की गई हत्या

सिहोरा 

नेशनल हाईवे 30 की पुलिया के नीचे शुक्रवार दोपहर एक युवक की लाश मोटरसाइकिल सहित पानी में मिलने से सनसनी फैल गई। देखते ही देखते भारी संख्या में लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गई लाश मिलने की खबर लगते ही सिहोरा थाने का अमला और एसडीओपी घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने युवक का शव पुलिया से बाहर निकलवाया। मृतक के जबड़े, सिर पर गंभीर चोट के निशान मिले। मृतक की पहचान ग्राम बरगी निवासी अमित तिवारी (34 ) के रूप में हुई। मृतक के परिजनों का आरोप है कि यह एक्सीडेंट नहीं है बल्कि साजिश के तहत अमित की हत्या की गई है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है। 



हासिल जानकारी के मुताबिक ग्राम बरगी निवासी अमित तिवारी (34) की लाश दोपहर करीब 12:30 बजे के लगभग भैंस चराने वाले एक व्यक्ति पुलिया के नीचे पानी में उतराती देखी। लाश मिलने की खबर लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पानी से बाहर निकलवाया। साथ ही मोटरसाइकिल क्रमांक एमपी 49 एमएल 0310 को बाहर निकाला गया। जानकारी के मुताबिक मृतक अमित गुरुवार को 8:30 बजे खाना खाने के बाद बजरंगबाड़ा के पास स्थित रेस्टोरेंट जाने की बात कहकर घर से निकला, लेकिन रात 10 बजे तक वह रेस्टोरेंट्स नहीं पहुंचा। इस बीच अमित के बड़े भाई ने रेस्टोरेंट में बैठे सबसे छोटे भाई अरविंद को फोन लगाकर पूछा कि अमित रेस्टोरेंट्स आया कि नहीं अरविंद ने जवाब दिया कि अमित भैया अभी रेस्टोरेंट्स नहीं आए हैं।

पहले कवरेज एरिया से बाहर फिर स्विच ऑफ बताने लगा फोन

मृतक के बड़े भाई आनंद तिवारी के मुताबिक रात करीब 11 बजे के लगभग अमित को फोन लगाया। अमित ने बताया कि वह रेस्टोरेंट्स पहुंचने वाला है। कुछ देर बाद अमित मोटरसाइकिल से रेस्टोरेंट पहुंचा, जहां उसका सबसे छोटा भाई अरविंद पहले से मौजूद था। रेस्टोरेंट्स पहुंचते ही अमित के मोबाइल की घंटी बजी और सामने वाले व्यक्ति ने अमित से कहा कि आपसे मिलना है। इतना सुनते ही अमित ने गाड़ी लौटा कर संबंधित व्यक्ति से मिलने चला गया। रात में आनंद ने अमित को कई बार फोन लगाया। अमित का फोन कवरेज एरिया से बाहर और स्विच ऑफ बता रहा था। 




परिजनों का आरोप साजिश के तहत की गई हत्या

मृतक अमित के बड़े भाई आनंद, अरविंद का आरोप है कि पूरे मामले को साजिश के तहत दुर्घटना दिखाया गया। पूरी साजिश के तहत हत्या की वारदात अंजाम दी गई और इससे दुर्घटना दिखाया जा रहा है। पुलिस पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच करें तो सच्चाई सामने आ जाएगी। पुलिस सीडीआर के माध्यम से आखरी बार अमित के साथ किस से बात हुई इसकी जांच करें।


क्या कहते हैं जिम्मेदार

बरगी ग्राम निवासी अमित तिवारी का शव नेशनल हाईवे की पुलिया के नीचे पानी में मोटरसाइकिल सहित मिला है। एफएसएल की टीम ने नमूने लिए हैं। मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया गया है पोस्टमार्टम रिपोर्ट और सीडीआर के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

भावना मरावी, एसडीओपी सिहोरा
Previous Post Next Post