100 सुअरों में मिले अफ्रीकन स्वाइन फीवर के लक्षण पशु चिकित्सा विभाग के सर्वे में जानकारी आई सामने

100 सुअरों में मिले अफ्रीकन स्वाइन फीवर के लक्षण


पशु चिकित्सा विभाग के सर्वे में जानकारी आई सामने, मंगलवार तक चलेगा सर्वे का काम, मानवी तरीके से किया जाएगा पीड़ित सुअरों का खात्मा

सिहोरा 

नगर पालिका सिहोरा के 18 वार्डों में करीब 100 सुअरों के अफ्रीकन स्वाइन फीवर से पीड़ित होने की जानकारी पशु चिकित्सा विभाग के प्रारंभिक सर्वे में सामने आई। हालांकि टीम के सर्वे का काम मंगलवार को खत्म होगा इसके बाद यह बात सामने आ पाएगी कि आखिर कितने सुअर अफ्रीकन स्वाइन फीवर की चपेट में है। सर्वे का काम पूरा होने के बाद मानवीय तरीके से पीड़ित सुअरों का खात्मा किया जाएगा।


खंड पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ मीता मनोचा ने बताया कि सुअरों की रिपोर्ट में वार्ड क्रमांक एक और तीन में अफ्रीकन स्वाइन फीवर की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार से पशु चिकित्सा विभाग और नगर पालिका की स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा नगरपालिका के सभी वार्डों में सुअरों के सर्वे का काम शुरू हुआ। अभी तक के सर्वे में करीब 100 सुअर अफ्रीकन स्वाइन फीवर रोग से पीड़ित सामने आए हैं।


डर के चलते सूअर पालकों ने नहीं दी जानकारी

सूत्रों की माने तो नगर पालिका क्षेत्र में अक्टूबर माह के शुरुआती चरण में ही संदिग्ध तरीके से सुअरों की मौत का सिलसिला शुरू हो गया। कई सूअर पालक वेटरनरी डिपार्टमेंट से दवा भी लेकर गए थे। इसके बावजूद सूअरों पर इस दवा का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ा जिसके चलते उनकी मौत हो गई। डर के कारण अधिकतर सूअर पालकों ने इसकी जानकारी ही नगर पालिका प्रशासन और वेटरनरी डिपार्टमेंट को नहीं दी। मानवीय तरीके से सुअरों एक हाथ में उनको लेकर चल रहे सर्वे के बाद कई सूअर पालक मामले को लेकर अब वेटरनरी डिपार्टमेंट पहुंच रहे हैं। जहां यह बात सामने आ रही है कि कई सूअर पहले ही यहां पर मर चुके हैं लेकिन इसकी जानकारी किसी के पास नहीं हैं।

इनका कहना

नगर पालिका क्षेत्र के 18 वार्डों में अफ्रीकन स्वाइन फीवर रोग से ग्रसित सुअरों के सर्वे के दौरान अभी तक 100 सुअर इससे पीड़ित सामने आए हैं। सर्वे पूरा होने के बाद ही पता चल सकेगा कि आखिर और कितने सूअर है जो कि इस रोग से पीड़ित हैं।

डॉक्टर नीता मनोचा, खंड पशु चिकित्सा अधिकारी सिहोरा
Previous Post Next Post