गोसलपुर डीसी के अंतर्गत 50 गांव के 6 दर्जन ट्रांसफार्मर खराब

गोसलपुर डीसी के अंतर्गत 50 गांव के 6 दर्जन ट्रांसफार्मर खराब : जिम्मेदार बने बेपरवाह किसान परेशान कैसे होगी गेहूं की सिंचाई चिंता में पड़े अन्नदाता


सिहोरा 

सिहोरा तहसील के अंतर्गत संचालित मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण केंद्र के तहत स्थापित विद्युत वितरण केंद्र गोसलपुर के अंतर्गत आने वाले लगभग आधा सैकड़ा गांव के 6 दर्जन ट्रांसफार्मर विगत कई माहो से खराब पड़े हैं। जिन्हें बदलवाने हेतु किसानों द्वारा अनेकों पर विद्युत मंडल के आला अधिकारियों से आरजू मिननत की गई, परंतु नतीजा सिफर रहा।


बताया जाता है की गोसलपुर विद्युत वितरण केंद्र के अंतर्गत एक सैकडा गांव आते हैं। जहां पर लगभग कृषि के 350 ट्रांसफार्मर स्थापित है। जिनमें से लगभग 70 ट्रांसफार्मर कई महीनों से उपयोगहीन साबित हो रहे हैं। ज्ञात हो की अब रवि का सीजन प्रारंभ हो गया है और गेहूं की बोनी फसल की सिंचाई हेतु किसानों को बिजली की आवश्यकता पड़ेगी। जिस कारण किसान बेहद चिंतित नजर आ रहे हैं। किसान समाज संगठन के नेताओं और जनप्रतिनिधियों से भी समय-समय पर खराब ट्रांसफार्मरों को शीघ्र बदलने की मांग की जा रही है,
परंतु विद्युत मंडल की लचर कार्यप्रणाली के चलते पिछले कई महीनों से डीसी के अंतर्गत खराब ट्रांसफार्मरों का अंबार लगा हुआ है।

सालों गुजरने के बाद भी नहीं बदले जाते ट्रांसफार्मर

 जहां एक ओर प्रदेश के मुखिया व ऊर्जा मंत्री 24 घंटे के अंदर खराब ट्रांसफार्मर बदलने का दंभ भरते हैं, वही हकीकत यह है की सालों गुजरने के बाद भी ट्रांसफार्मर नहीं बदले जा रहे। वही काफी लंबे समय से ट्रांसफार्मर बदलने का जिम्मा सहायक यंत्री व कार्यपालन अभियंता के हाथ में है। जिसके कारण और भी व्यवस्था चौपट हो गई है। स्थानीय कार्यालय द्वारा निरंतर खराब ट्रांसफार्मरों के बारे में अवगत कराया जा रहा है परंतु वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा यह कह दिया जाता है की रिपेयरिंग वर्कशॉप से ट्रांसफार्मर नहीं मिल रहे हैं। जिस कारण यह समस्या क्षेत्र में विकराल रूप धारण करती जा रही है और किसी दिन किसानों का आक्रोश की ज्वाला बड़े रूप में भड़क उठेगी।
Previous Post Next Post