रिहायशी मकान को बना रखा था अवैध कच्ची शराब का अड्डा, प्लास्टिक के गुम्मो में भरी 60 लीटर हाथ भट्टी महुआ शराब जप्त

रिहायशी मकान को बना रखा था अवैध कच्ची शराब का अड्डा, प्लास्टिक के गुम्मो में भरी 60 लीटर हाथ भट्टी महुआ शराब जप्त


आबकारी सिहोरा की नशे के कारोबारियों के विरुद्ध कार्रवाई

सिहोरा

 आबकारी वृत्त सिहोरा ने नशे के अवैध कारोबार के खिलाफ बुधवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए मझौली में रिहायशी मकान में छुपा कर रखी 60 लीटर अवैध हाथ भट्टी शराब को जप्त किया। आबकारी अमले ने अवैध शराब का संग्रह करने वाली महिला के विरुद्ध आबकारी अधिनियम का प्रकरण दर्ज कर उसे न्यायालय में पेश किया, जहां से न्यायालय ने आरोपित महिला को जेल भेज दिया।

कलेक्टर जबलपुर के निर्देशन एवं सहायक आबकारी आयुक्त जबलपुर के मार्गदर्शन में वृत्त सिहोरा में नशे का अवैध कारोबार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश पर सूचना प्राप्त हुई की मझौली के वार्ड नंबर 07 हरदौल मोहल्ला में शीला बाई कुचबंधिया पति त्रिलोक कुचबंधिया (45) अपने रिहायशी मकान में अवैध रूप से मदिरा का संग्रह किए हुए हैं। तत्काल विशेष टीम बनाकर मौके हेतु रवाना हुए। गवाहों के समक्ष आरोपी के रिहायशी मकान की तलाशी लिए जाने पर चार प्लास्टिक के गुम्मो में रखी 60.0 लीटर हाथ भट्टी महुआ मदिरा बरामद हुई। आरोपित महिला के खिलाफ मध्यप्रदेश आबकारी अधिनियम 1915, संशोधन 2000 की धारा 34(1) क, 34(2) का दंडनीय गैर जमानती अपराध दर्ज  न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी सिहोरा के समक्ष पेश किया गया। जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में केंद्रीय जेल जबलपुर भेज दिया गया। बरामद मदिरा की अनुमानित कीमत 6000 रुपये है।

इनकी रही उल्लेखनीय भूमिका

कार्रवाई के दौरान वृत्त सिहोरा के प्रभारी अधिकारी जिनेंद्र कुमार जैन, आबकारी उपनिरीक्षक,नेकलाल बागरी, आबकारी मुख्य आरक्षक, सतीश कुमार खमपरिया, फूल सिंह एटिया, संतलाल मरावी, अशोक सिंह बघेल एवं अमिता केसरवानी आबकारी आरक्षक की भूमिका सराहनीय रही।
Previous Post Next Post