दम तोड रही सडकें, खनिज डस्ट से बढ़ रहा प्रदूषण ओवरलोड वाहनों से बस्ती के निवासी परेशान

दम तोड रही सडकें, खनिज डस्ट से बढ़ रहा प्रदूषण
ओवरलोड वाहनों से बस्ती के निवासी परेशान


गोसलपुर क्षेत्र हिरदेनगर, धरमपुरा, पोंडी,  सिलुआ, टिकरिया बस्ती के रहवासियों का जीना हो रहा मुश्किल


सिहोरा 

अकूत खनिज संपदा के धनी सिहोरा तहसील के गोसलपुर क्षेत्रीय जनों की एक उम्मीद जागी थी की क्षेत्र के चहुंमुखी विकास के लिए ये खदानें वरदान साबित होंगी। विकास की रफ्तार बढेगी, युवाओं को रोजगार मिलेगा, मिनिरल औद्योगिक ईकाइयां लगेंगी, परंतु इन सबके विपरीत ये खदानें क्षेत्र के लिए अभिशाप साबित हो रही हैं। क्षेत्र के विकास की बात तो दूर खनिज क्षेत्र में मिनरल प्लांट के ओवरलोड वाहनों ने गोसलपुर  सहित हिरदेनगर, धरमपुरा, पौडी, सिलुवा, टिकरिया, देवनगर, किवलारी, घुटना, भदम, धौराकोनी, कछपुरा बस्ती के लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है।
क्षमता से अधिक भार लेकर यमदूत की तरह दौड़ते वाहन न केवल सड़क दुर्घटना को अंजाम दे रहे हैं। बल्कि पहाड़ जैसे लदे खनिज संपदा के रास्ते में उड़ने एवं गिरने से लोगों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। उल्लेखनीय है की खनिज लोड कर परिवहन कर रहे वाहनों को खनिज ढांककर परिवहन करने के स्पष्ट निर्देशों को दरकिनार करते हुए भारी वाहन बस्ती के बीच रास्ते में खनिज गिराते हुए जाते हैं,  जिससे आए दिन दो पहिया वाहन चालक गिर कर लहूलुहान हो रहे हैं, वहीं डस्ट उडने के कारण लोगों के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।

दम तोड़ रही सड़कें

क्षमता से कई गुना अधिक भार लेकर सड़कों पर बेलगाम गति से भागते वाहनों के कारण क्षेत्र की सड़कें समय से पहले दम तोड़ रही हैं। खनिज परिवहन में संलग्न ओवरलोड वाहनों पर अंकुश लगाने पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन की चुप्पी प्लांट संचालकों से मिलीभगत की ओर इशारा कर रही है। स्थानीय लोगो ने प्रशासन से मांग की है की
ओवरलोड वाहनों पर अंकुश लगाते हुए प्लांट संचालकों को ढाककर खनिज परिवहन हेतु निर्देशित करने की मांग की है।
Previous Post Next Post