शोपीस बने लाखों की लागत से बने सुलभ कॉन्प्लेक्स

शोपीस बने लाखों की लागत से बने सुलभ कॉन्प्लेक्स




लापरवाही : स्वच्छ भारत अभियान के तहत नगरपालिका सिहोरा ने 7 वार्डों में कराया था निर्माण, एनओसी मिलने के बावजूद नहीं हो सके शुरू

सिहोरा

केंद्र सरकार की स्वच्छ भारत अभियान योजना के तहत शहरी क्षेत्रों में नगर पालिका परिषद सिहोरा ने  7 वॉर्डों में करीब 40 लाख की लागत से सुलभ कॉन्प्लेक्स का निर्माण कराया था। निर्माण कार्य पूर्ण होने के बाद सुलभ कॉन्प्लेक्स नगरपालिका के हैंड ओवर कर दिए गए, लेकिन इसका लाभ आम जनता को आज तक नहीं मिला। लाखों रुपए की लागत से तैयार सुलभ कॉन्प्लेक्स सिर्फ शोपीस बनकर रह गए हैं।

जानकारी के मुताबिक स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत 2019-20 में केंद्र सरकार द्वारा शहरी क्षेत्रों में आम जनता की सुविधा के लिए वार्डों में सुलभ कॉन्प्लेक्स योजना आई थी। नगर पालिका परिषद  सिहोरा ने बाकायदा इसके लिए टेंडर जारी किए। नगर पालिका परिषद ने 5 लाख प्रति सुलभ कॉन्प्लेक्स की दर से 7 वार्डों में करीब 40 लाख से निर्माण कराया।



छह माह बीते अभी तक नहीं शुरू हुए सुलभ कॉन्प्लेक्स

जून 2022 सभी सुलभ कॉन्प्लेक्स बनकर तैयार हो गई संबंधित ठेकेदार ने निर्माण कार्य पूरा करने के बाद सुलभ कॉन्प्लेक्स को नगर पालिका के स्वच्छता विभाग के हैंडओवर भी कर दिया, लेकिन सुलभ कॉन्प्लेक्स में सिर्फ ताला लटका है।

इन जगहों पर हुआ सुलभ कॉन्प्लेक्स का निर्माण

सब्जी मंडी, लोक सेवा केंद्र, पहरेवा, खितौला बस्ती, नगरपालिका वाहन गैरेज, शासकीय सिविल अस्पताल सिहोरा में सुलभ कॉन्प्लेक्स आम जनता के लिए बनकर तैयार खड़े हैं लेकिन अभी तक इनकी शुरूआत नहीं हो सकी। 


क्या कहते हैं जिम्मेदार

नगर पालिका परिषद सिहोरा में स्वच्छ भारत अभियान के तहत सात अलग-अलग जगहों पर सुलभ कॉन्प्लेक्स बन कर तैयार हो गए हैं। 18 नवंबर को मेयर इन काउंसिल की बैठक में सुलभ कांपलेक्स को प्रारंभ करने का एजेंडा रखा जाएगा।

लक्ष्मण सिंह सारस, मुख्य नगरपालिका अधिकारी सिहोरा
Previous Post Next Post