गर्ल्स हॉस्टल उद्घाटन हुए दो साल बीते नहीं खुला ताला, गंदा पानी पीने को मजबूर छात्र-छात्राएं

गर्ल्स हॉस्टल उद्घाटन हुए दो साल बीते नहीं खुला ताला, गंदा पानी पीने को मजबूर छात्र-छात्राएं


अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने शासकीय श्याम सुंदर अग्रवाल स्नातकोत्तर महाविद्यालय में की तालाबंदी, विरोध प्रदर्शन

सिहोरा 

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारी एवं छात्र छात्राओं ने मंगलवार को शासकीय श्याम सुंदर अग्रवाल स्नातकोत्तर महाविद्यालय के गेट पर तालाबंदी कर दी। आक्रोशित छात्र छात्राओं ने कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और आरोप लगाया कि विद्यार्थियों की समस्याओं को लेकर कालेज प्रबंधन पूरी तरह निष्क्रिय है। 


अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के जिला सह संयोजक आनंद श्रीवास ने बताया कि शासकीय श्याम सुंदर अग्रवाल स्नातकोत्तर महाविद्यालय में दो साल पहले गर्ल्स हॉस्टल का उद्घाटन हो चुका है, लेकिन आज तक ना तो उसका ताला खोला और ना ही छात्राओं को रहने के लिए कोई व्यवस्था शुरू हुई। मजबूरी में ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाली अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग की छात्राओं को शाम के समय अंधेरे में घर पहुंचना पड़ता है। महाविद्यालय में विद्यार्थियों गंदा पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। लाइब्रेरी में एसटी एससी एवं समस्त छात्रों को पुस्तक उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। सभी विषयों की कक्षाएं नियमित रूप से लगे व कॉलेज स्टाफ पूर्ण समय तक कॉलेज में रहे। महाविद्यालय में आने वाली छात्र-छात्राओं के बस का किराया आधा कराए जाएं और उनके पास बनवाए जाएं। कंप्यूटर क्लास में एक शिक्षक एवं नेट सुविधा उपलब्ध कराई जाए। महाविद्यालय में सभी कर्मचारियों को गणवेश उपलब्ध कराई जाए एवं कर्मचारियों को कलेक्ट्रेट पर सैलरी दी जाए। 

कॉलेज प्रबंधन को पहले ही दिया था रिमाइंडर नहीं दिया गया ध्यान

छात्रावास प्रमुख कपिल बागरी, अभिषेक राय, महाविद्यालय उपाध्यक्ष मोहनी चक्रवर्ती, मधु उपाध्याय, शशि जैन, रंजीत, आदेश, रसूल ने बताया कि उन्होंने अपनी मांगों को लेकर पहले भी कालेज प्रबंधन को रिमाइंडर दिया था लेकिन इसके बावजूद कालेज प्रबंधन ने उनकी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दिया जिसके चलते उन्हें विरोध प्रदर्शन का सहारा लेना पड़ा।
Previous Post Next Post