भूमि पूजन हुए महीना बीत, ठेकेदार की लापरवाही के चलते शुरू नहीं हुआ काम

भूमि पूजन हुए महीना बीत, ठेकेदार की लापरवाही के चलते शुरू नहीं हुआ काम


सिहोरा सिविल हॉस्पिटल का : पीडब्ल्यूडी के जिम्मेदार अधिकारी झाड़ रहे पल्ला, एक करोड़ 68 लाख की लागत 20 वॉर्डों का होना था निर्माण 

सिहोरा 

सिहोरा सिविल हॉस्पिटल में 20 बिस्तरों के वार्ड का भूमि पूजन हुए महीना भर से ऊपर हो गया, लेकिन अभी तक ठेकेदार ने यहां पर धेले भर का काम नही किया। वही लोक निर्माण विभाग के जिम्मेदार अधिकारी ठेकेदार द्वारा काम शुरू नहीं किए जाने को लेकर पूरी तरह पल्ला झाड़ रहे हैं और उसका बचाव तक करने में लगे हुए हैं। 

ये है मामला 

सिहोरा सिविल हॉस्पिटल जरनल वार्ड बढ़ाने को लेकर एक करोड़ 68 लाख की लागत से 20 बिस्तरों के नए वार्ड का निर्माण होना है। ताकि इसका लाभ अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों को मिल सके। 11 अक्टूबर को  विधायक नंदनी मरावी ने 20 बिस्तरों के नवीन वार्ड के निर्माण का भूमि पूजन किया था। भूमि पूजन होने के बाद करीब एक माह का समय बीतने को है लेकिन अभी तक ठेकेदार ने वहां धेले भर का काम भी शुरू नहीं। ऐसे में 20 बिस्तरों के नवीन वार्ड का निर्माण कब तक पूरा होगा यह राम भरोसे ही है।



2 माह पहले जारी हो गया था वर्क आर्डर, 4 माह में करना है पूरा काम

जानकारी के मुताबिक स्टेप अप कंस्ट्रक्शन फर्म  को लोक निर्माण विभाग द्वारा 20 बिस्तरों के वार्ड के निर्माण का काम दिया गया था। अगस्त माह में संबंधित ठेकेदार को बकायदा वर्क आर्डर भी जारी कर दिया गया। निर्माण कार्य को 4 माह में ठेकेदार को पूरा करना है। लेकिन निर्माण साइट पर ठेकेदार ने सिर्फ गड्ढे ही किए हैं। मालूम रहे कि इसके पहले भी कलेक्टर को लेकर लगातार सिहोरा सिविल हॉस्पिटल में हो रहे निर्माण को लेकर ठेकेदारों और निर्माण एजेंसी को जमकर फटकार लगा चुके हैं। कलेक्टर का साफ कहना है कि निर्माण में गुणवत्ता पर किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा साथ ही निर्माण कार्य को सीमा में ठेकेदार पूरा करें।


क्या कहते हैं जिम्मेदार

निर्माण साइट पर बिजली के पोल को शिफ्ट करना था इसको लेकर एमपीईबी को लगातार पत्र लिखा गया। एक सप्ताह पहले ही खंबे को शिफ्ट किया गया है। ठेकेदार को जल्द से जल्द निर्माण शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। 

एसके दुबे, उप यंत्री लोक निर्माण विभाग उप संभाग सिहोरा
Previous Post Next Post