आयुष्मान कार्ड बनाने के अभियान को दे आंदोलन का रूप, जनप्रतिनिधियों की भी लें मदद : कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन

आयुष्मान कार्ड बनाने के अभियान को दे आंदोलन का रूप, जनप्रतिनिधियों की भी लें मदद : कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन


सिहोरा और मझौली तहसील में सचिव ग्राम रोजगार सहायक आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की बैठक में दिए निर्देश

सिहोरा/मझौली

 कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने सभी विभागों के मैदानी स्तर पर पदस्थ अधिकारियों-कर्मचारियों से आयुष्मान कार्ड बनाने  गुरुवार से प्रारम्भ होने वाले अभियान को आंदोलन का रूप देने का अनुरोध किया है तथा इस कार्य में जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लेने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने कहा कि जिले के ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में पदस्थ अमले को अपना सामाजिक दायित्व मानते हुये यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके कार्यक्षेत्र के प्रत्येक पात्र व्यक्ति का आयुष्मान कार्ड बन जाये ।
      श्री सुमन आज पनागर, सिहोरा और मझौली में आयुष्मान कार्ड बनाने गुरुवार से चलाये जाने वाले अभियान की पूर्व तैयारियों के तहत आयोजित को सम्बोधित कर रहे थे । उन्होंने इन बैठकों में सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को आयुष्मान कार्ड बनवाने के अभियान में मिल जुलकर कार्य करने के लिये प्रेरित किया । उन्होंने कहा कि हर एक पात्र व्यक्ति का आयुष्मान कार्ड बन जाये इसकी चिंता सभी को करनी होगी । यह किसी एक व्यक्ति या एक विभाग की नहीं बल्कि सभी की सामूहिक जिम्मेदारी है और सभी को आपस मे समन्वय स्थापित इसे पूरा करना होगा । 
       कलेक्टर ने बैठकों में शेष बचे सभी पात्र व्यक्तियों के आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य को आने वाले दस दिनों में पूरा कर लेने की अपेक्षा की । श्री सुमन ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि अधिकारी-कर्मचारी इस जिम्मेदारी का केवल शासकीय दायित्व के तौर पर ही नहीं बल्कि इससे कहीं ज्यादा इसे अपना सामाजिक दायित्व समझकर निर्वाह करेंगे ।


      कलेक्टर ने आयुष्मान योजना को लोगों को  बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने की अब तक की सबसे बड़ी योजना बताया । उन्होंने कहा कि गम्भीर बीमारी की स्थिति में आयुष्मान कार्ड धारी व्यक्ति के परिवार का कोई भी सदस्य अच्छे से अच्छे और निजी अस्पताल में पाँच लाख रुपये तक का निःशुल्क उपचार करा सकता है । श्री सुमन ने कहा कि आयुष्मान योजना का लाभ हर पात्र व्यक्ति की मिले सभी शासकीय सेवकों को इसे समाज सेवा का एक अच्छा अवसर मानकर चिंता करनी होगी ।
Previous Post Next Post