चाय बनाने से मना किया तो पति ने पत्नी की गला घोंटकर हत्या कर दी

चाय बनाने से मना किया तो पति ने पत्नी की गला घोंटकर हत्या कर दी


मझौली थाना क्षेत्र के सुनवानी गांव की घटना : बच्चों के बयान के आधार पर पुलिस ने किया पूरे मामले का खुलासा, आरोपी पति पहुंचा सलाखों के पीछे

मझौली

मझौली थाना क्षेत्र के ग्राम सुनवानी में पत्नी के चाय बनाने से मना करने पर पति को इतना गुस्सा आया कि उसने पहले पत्नी से जमकर मारपीट की और डंडे से उसका हाथ तोड़ दिया। इतने से भी मन नहीं भरा तो आरोपी पति ने पत्नी की गला घोटकर निर्मम तरीके से हत्या कर दी। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट और मृतिका के बच्चों के बयान के आधार पर पूरे मामले का खुलासा करते हुए आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। 


ये मामला 

एसडीओपी सिहोरा भावना मरावी ने बताया कि मझौली थाना क्षेत्र के ग्राम सुनवानी के कोटवार राकेश दाहिया ने मझौली थाने में सूचना दी की सुनवानी शासकीय स्कूल के पीछे घर में संध्या दाहिया मृत अवस्था में पड़ी। सूचना पर मझौली थाना प्रभारी अविनाश मिश्रा स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे। जांच के दौरान मृतिका के नवविवाहिता होने पर तहसीलदार प्रदीप मिश्रा, एफएसएल की अधिकारी नीता जैन मौके पर पहुंची। शव की जांच करने के दौरान यह बात सामने आई कि मृतिका संध्या दाहिया (26) के पूरे शरीर में गंभीर चोट के निशान थे साथ ही उसका बांया हाथ फ्रैक्चर है। अस्पताल से मिली पीएम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि संध्या की मृत्यु गला घोंटने से हुई है। 

मृतिका के बेटे और बेटी ने खोला पूरा राज

जांच के दौरान मृतिका संध्या दाहिया की बेटी दुर्ग उर्फ मयूरी दाहिया ने पूछताछ के दौरान बताया कि 17 नवंबर 2022 की रात सुनवानी वह दादी के यहां सोई थी। सुबह अपने मम्मी पापा के घर पहुंची तो पापा मम्मी को चाय बनाने को कहने को लेकर जोर जोर से थप्पड़ मार रहे थे। जिससे वह सिर के बल सोफे पर गिर गई और पापा ने गुस्से में मम्मी का गला दबा दिया। जांच के दौरान यह बात भी सामने आई कि आरोपी हीरालाल दाहिया (36) संध्या के साथ मारपीट किया करता था और इस मामले में मझौली थाने में तीन बार संध्या ने रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।


शराब पीने का था आदी, पत्नी पर करता था शक

पुलिस ने इस मामले में आरोपी पति हीरालाल के खिलाफ धारा 302 और 323 का प्रकरण दर्ज कर आरोपी को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह शराब पीने का आदी था और अपनी पत्नी संध्या पर शक किया करता था कि संध्या दूसरे मर्द से मिलने जाती है। 17 नवंबर को वह घर पहुंचा तो खाना बनाने की बात को लेकर संध्या से उसका झगड़ा हो गया। इसी भी हीरालाल ने घर पर पड़े डंडे से संध्या के बाएं हाथ पर वार कर दिया। बाद में गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और लाश को अंदर कमरे में घसीट कर ले गया। बच्चों के घर आने पर उन्हें बरगलाने के लिए पोहा लेने भेज दिया।


इनकी रही उल्लेखनीय भूमिका

 हत्या के खुलासा एवं आरोपी को गिरफ्तार करने में विवेचना अधिकारी श्रीमति भावना मरावी एसडीओपी सिहोरा, थाना प्रभारी उनि अभिलाष मिश्रा, सउनि रामसनेही पटैल थाना मझौली, प्र. आर. मुकेश ठाकुर थाना मझौली आर. नीरज चौरसिया एसडीओपी सिहोरा रीडर, आर. 2735 रामानंद तिवारी की सराहनीय भूमिका रही।
Previous Post Next Post