जिलाध्यक्ष का जिले से बाहर स्थानांतरण निरस्त करे सरकार

जिलाध्यक्ष का जिले से बाहर स्थानांतरण निरस्त करे सरकार

सिहोरा में शिक्षक संगठनों ने किया प्रदर्शन : मुख्यमंत्री के नाम सिहोरा विधायक और एसडीएम को सौपे ज्ञापन 

सिहोरा

राज्य शिक्षक संघ जबलपुर के जिलाध्यक्ष नरेन्द्र त्रिपाठी के जिले से तीन सौ किमी दूर छिंदवाड़ा में किये गए स्थानांतरण से शिक्षकों में आक्रोश फूट पड़ा। सिहोरा में मंगलवार को सैकड़ों की संख्या में शिक्षकों ने एकत्र हो जिलाध्यक्ष के स्थानांतरण आदेश को निरस्त करने का ज्ञापन मुख्यमंत्री के एसडीएम सिहोरा और सिहोरा विधायक को सौंपा। प्रदर्शन में शामिल शिक्षक संगठनों ने आदेश के निरस्त न होने पर तीव्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

न शिकायत न कमी फिर भी स्थानांतरण

 राज्य शिक्षक संघ सिहोरा के तहसील अध्यक्ष अरविंद उपाध्याय ने बताया कि जिलाध्यक्ष जिस स्कूल में शिक्षक है, वहाँ से आज तक शिक्षक की कोई शिकायत नही है।सम्पूर्ण ग्राम और छात्र उनकी शैक्षणिक गतिविधियों से संतुष्ट हैं।  बावजूद इसके स्थानांतरण करना शिक्षक संवर्ग का शोषण है।


मुख्यमंत्री और विधायक को ज्ञापन

सैकड़ों की संख्या में एकत्र शिक्षकों ने एक रैली निकाल मुख्यमंत्री के नाम सिहोरा एसडीएम को और विधायक कार्यालय में मंडल अध्यक्ष अभिषेक परौहा को ज्ञापन सौंप स्थानांतरण निरस्त करने की मांग की।विरोध के स्वर और तेज होते दिख रहे हैं।आज मझौली और पाटन विकासखंड में भी विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की गई है।
            प्रदर्शन में अजाक्स से अनिल दाहिया, शासकीय तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ से मनीष चौबे, संजीव उरमलिया, सुशील दाहिया शिक्षक कांग्रेस से मनीष पटेल ,शिक्षक संघ से संतोष तिवारी सहित राज्य शिक्षक संघ से नरेंद्र खम्परिया, विनीत मिश्रा, रवि दुबे, सुनील तिवारी, सूर्यकांत त्रिपाठी, राजेश शुक्ला, राजेन्द्र दुबे, मनीषा दुबे, सुशीला झारिया, प्रदीप पटेल,उमाशंकर मिश्रा,नारायण तिवारी, अनिरुद्द त्रिवेदी,अजय पटेल,प्रकाश पांडे,दीपक सोनी, अखिलेश दाहिया, सोमनाथ कुशवाहा, जितेंद्र तिवारी,अखिलेश मिश्रा, राजीव पटेल, रावेंद्र पटेल, श्याम यादव, ओमप्रकाश बर्मन सहित सैकड़ों की संख्या में शिक्षक शामिल रहे।
Previous Post Next Post