समय के पहले बंद हो जाती है डिस्पेंसरी, जिम्मेदार बेसुध

समय के पहले बंद हो जाती है डिस्पेंसरी, जिम्मेदार बेसुध
ग्राम पंचायत जुझारी आयुर्वेद औषधालय का मामला : शाम 3:00 बजते ही लटक जाता है ताला, बैरंग लौटते हैं मरीज


सिहोरा

सिहोरा तहसील के अंतर्गत जुझारी गांव में संचालित आयुर्वेद औषधालय में रोज दोपहर 3 बजे ताला लटक जाता है। जहां एक ओर कोरोना काल के बाद से लोगों का रूझान आयुर्वेद चिकित्सा की ओर तेजी से बढा है। औषधालय में निरंतर बड़ी संख्या में मरीज भी पहुंचते हैं, परंतु आयुर्वेद औषधालय जुझारी में  शाम 3 बजे ताला लटक जाता है।


 जबकि उक्त संस्था में एक डॉक्टर, एक कंमपाउंडर पदस्थ है। एवं दो पारियों में संस्था खोलने का नियम है। जिससे अनेक मरीज औषधालय समय के पहले बंद होने से मरीज बैरंग लौट जाते हैं। इस संबंध में ग्राम के जागरूक लोगों ने जवाबदार अधिकारियों से ध्यान देने की मांग की है।

इनका कहना

मुझे आपके द्वारा जानकारी मिली है आप औषधालय बंद होने की फोटो भेजिए, मैं कार्यवाही करूंगी।

 डॉ. अर्चना सिंह मरावी, जिला आयुर्वेद अधिकारी
Previous Post Next Post