नौकरी के बदले रुपये नही चाहिए,सभी 57 आवेदकों के विकल्प को ठुकराया

नौकरी के बदले रुपये नही चाहिए,सभी 57 आवेदकों के विकल्प को ठुकराया
राज्य शिक्षक संघ और आजाद अध्यापक संघ ने आवेदकों सहित दर्ज कराया विरोध


सिहोरा 

शासकीय कर्मचारी की सेवा में रहते हुए हुई मृत्यु के बाद मिलने वाली अनुकंपा नियुक्ति के बदले रु देने के विकल्प को आवेदकों ने ठुकराया दिया।राज्य शिक्षक संघ और आजाद अध्यापक संघ ने लोक शिक्षण संचालनालय और डीईओ जबलपुर के आदेश का जमकर विरोध किया।जिलाध्यक्ष नरेन्द्र त्रिपाठी और महेंद्र अहवासी ने इसे संवेदनहीनता की पराकाष्ठा बताया।

लिखित में विकल्प पर असहमति दी


जैसे ही डीईओ कार्यालय बुलाए गए मृतक शासकीय सेवको के आश्रित  कार्यालय पहुँचे संघ के जिलाध्यक्ष नरेन्द्र त्रिपाठी ने उन्हें विकल्प को ठुकराने का आग्रह किया।इसके बाद सभी उपस्थित आश्रितों ने लिखित में डीईओ कार्यालय में नोकरी के बदले पाँच साल के विकल्प पर असहमति दी।

विकल्प तो पहले दिया

सभी आवेदकों ने बताया कि वे वर्षो से कार्यालयों के चक्कर लगा रहे है,रोज कोई न कोई नई डिग्री या नया शपथ पत्र लाने को कहा जाता है।आवेदकों ने कहा कि उन्होंने पूर्व में ही किस पद पर अनुकंपा चाहिए इसका पत्र दे दिया है अब फिर इसकी आड़ में नोकरी के बदले रुपयों का प्रलोभन दिया जा रहा है।
              संघों के रवि प्रकाश दुबे,अजय खरे,राजेन्द्र दुबे,राजकुमार गुर्जर,सौमित्र दुबे,राजू गुप्ता,निशा पाठक आदि ने सरकार और जिला प्रशासन से जल्द नियुक्ति देने की मांग की है।
Previous Post Next Post
Wee News