अधिकारियों की लापरवाही समय के पहले बंद हो जाते है केंद्र सेक्टर के आंगनवाड़ी केंद्रों का हाल बेहाल

अधिकारियों की लापरवाही समय के पहले बंद हो जाते है केंद्र


सेक्टर के आंगनवाड़ी केंद्रों का हाल बेहाल

सिहोरा

सिहोरा तहसील के अंतर्गत मध्यप्रदेश शासन महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा परियोजना कार्यालय सिहोरा के तहत संचालित गांधीग्राम सेक्टर में आने वाले अनेक आंगनबाड़ी केंद्रों के हाल बेहाल हैं। जवाबदार अधिकारियों के द्वारा केंद्रों का निरीक्षण न करने के कारण एवं पर्यवेक्षकों की लापरवाही के चलते निर्धारित समय के बाद आंगनवाड़ी केंद्र खुल रहे हैं समय के पहले केंद्रों में ताला लटक
जाता है।  

ज्ञात हो की आंगनवाड़ी केंद्रों से प्रदेश की सरकार अनेक योजनाओं को संचालित करती है, जहां पर विद्यालय पूर्व शिक्षा बच्चों को दी जाती है, वहीं अनेक प्रकार की योजनाओं व बीमारियों की रोकथाम टीकाकरण जैसे अनेक कार्य किए जाते हैं। परंतु सेक्टर के तहत आने वाले अनेक आंगनवाड़ी केंद्रों का विगत कई महीनों से हाल बेहाल हैं। अधिकारियों के द्वारा सतत निरीक्षण न करने के कारण आंगनवाड़ी केंद्रों में मुट्ठी भर बच्चों की उपस्थिति रहती है, जो एक चिंता का विषय है। जहां एक ओर जिला प्रशासन के मुखिया अधीनस्थ कर्मचारियों को आंगनवाड़ी केंद्रों के सतत निरीक्षण करने के निर्देश जारी करते हैं। वही लापरवाही के चलते आंगनबाड़ियों के हाल बुरे हैं। जहां एक ओर प्रदेश की सरकार आंगनबाड़ियों के माध्यम से बच्चों के कुपोषण को दूर करने का दंभ भरती है, वहीं जब आंगनवाड़ी समय पर ही न खुलेंगे तो ऐसे में शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन व कुपोषण को कैसे दूर किया जा सकता है। यह अंदाजा लगाने वाली बात है शीघ्र ही आंगनबाड़ियों की बदहाल स्थिति अराजक व्यवस्था के खिलाफ जनसेवा समिति गोसलपुर का प्रतिनिधिमंडल शीघ्र ही जिले के कलेक्टर से भेंट करेगा।
Previous Post Next Post
Wee News