रेत माफियाओं ने बंधक बना कर सरपंच के कर्मचारी के साथ की मारपीट

रेत माफियाओं ने बंधक बना कर सरपंच के कर्मचारी के साथ की मारपीट


थाने पहुंचा मामला, आपसी सहमति के बाद सुलझा 

सिहोरा 

रेत माफियाओं के बढ़ते हौसले के सामने पुलिस प्रशासन बौना पड़ रहा है। दिन प्रतिदिन माफियाओं के गुर्गों द्वारा गुंडा गर्दी की जा रही है। बिना रॉयल्टी के धड़ल्ले से रेत की गाड़ियां चल रही है पर किसी की मजाल है की कोई कार्यवाही कर सके। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार को मझगवां क्षेत्र में सामने आया। जिसमे रेत माफियाओं के गुंडों द्वारा शक के आधार पर एक युवक को बंधक बना कर उसके साथ मारपीट की।  जानकारी लगने पर दूसरे पक्ष के लोग थाने पहुंचे, जिसके बाद माफियाओं ने युवक को छोड़ दिया और बाद में राजनीतिक दबाव के चलते आपसी सहमति के बाद मामला शांत हुआ। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार देवरी सरपंच पति संदेश राय को जानकारी लगी की उसके कर्मचारी को रेत माफिया उठा कर ले गए हैं। जिसके बाद तत्काल उसने डायल 100  में फोन किया। मौका स्थल पर पहुंची पुलिस को पूरी जानकारी दी गई। जिसके बाद संदेश राय ग्रामीणों के साथ पुलिस थाने पहुंचे और थाना प्रभारी को पूरी घटना से अवगत कराया। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद माफियाओं ने संदेश के कर्मचारी को छोड़ दिया। 

तू गाड़ियों की लोकेशन बताता है वाहन में बैठाकर ले गए

कर्मचारी ने बताया की वह गुरुवार सुबह घूमने जा रहा था तभी एक गाड़ी में 4-5 लोग आए और गाली गलौच करते हुए बोले की तू गाड़ियों के लोकेशन बताता है और गाड़ी में बैठा कर सिहोरा ले गए और वहा मारपीट की। बाद में दोनो पक्षों की आपसी सहमति के बाद मामला शांत हुआ। 

15 से 20 घाटों में रेत का अवैध उत्खनन 

मझगवाँ थानांतर्गत 15 से 20 अवैध घाटों में रेत का अवैध खनन और परिवहन चल रहा है। जिस पर अधिकारियों द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही नही की जा रही। अगर जल्द ही कोई ठोस कार्यवाही माफियाओं पर नही की गई तो किसी दिन बहुत बड़ी दुर्घटना घट सकती है।

इनका कहना 

रेत के संबंध में कुछ लोग थाने आए थे, पर आपसी सहमति बनने के बाद बिना शिकायत किए वापस चले गए।
लोकमन अहिरवार, थाना प्रभारी मझगवां

Previous Post Next Post
Wee News